मुसलमानों का इलाज नहीं करने का इश्तेहार देने वाले UP के अस्पताल पर भड़के ओवैसी, बोले- मुस्लिमों की जिंदगी...

अखबार में प्रकाशित अस्पताल के स्पष्टीकरण में कहा गया है, ‘हमारी नीति इस वैश्विक आपदा में सभी धर्मों (मुस्लिम, हिंदू, जैन, सिख, ईसाई) के लोगों के साथ मिल-जुलकर लड़ने का आग्रह करने की रही.

मुसलमानों का इलाज नहीं करने का इश्तेहार देने वाले UP के अस्पताल पर भड़के ओवैसी, बोले- मुस्लिमों की जिंदगी...

मुसलमानों का इलाज नहीं करने का इश्तेहार देने वाले UP के अस्पताल पर ओवैसी का निशाना (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक अस्पताल ने इश्तेहार छपवाकर मुस्लिम मरीजों से कहा था कि वे अपना और अपने एक तीमारदार का कोरोना नेगेटिव होने का सर्टिफिकेट लाएंगे तभी अस्पताल उनका इलाज करेगा.  AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की अब इस पर प्रतिक्रिया आई है.  उन्होंने रविवार को अपने ट्वीट में लिखा- अगर अस्पताल अपनी नीति के विज्ञापन को लेकर पर्याप्त रूप से आश्वस्त है तो "जांच" किस बात की? उसे जनता को नुकसान पहुंचाने की अनुमति कैसे दी जा रही है? प्रधानमंत्री कार्यालय का कहना है कि "Covid-19 धर्म नहीं देखता है" बावजूद इसके उनके वैचारिक प्रशंसकों ने मुस्लिम नागरिकों को टारगेट कर रहे हैं और उनकी जिंदगी को खतरे में डाल रहे हैं. 

बता दें कि इस विज्ञापन को लेकर अस्पताल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. इश्तेहार को लेकर सोशल मीडिया पर विरोध होने के बाद अस्पताल ने दूसरा इश्तेहार छाप कर कहा कि उसे अपने पहले इश्तेहार पर खेद है. 17 अप्रैल को एक अखबार में विज्ञापन दिया, कल 18 अप्रैल को दूसरा विज्ञापन देकर माफी मांग ली.

अखबार में प्रकाशित अस्पताल के स्पष्टीकरण में कहा गया है, ‘हमारी नीति इस वैश्विक आपदा में सभी धर्मों (मुस्लिम, हिंदू, जैन, सिख, ईसाई) के लोगों के साथ मिल-जुलकर लड़ने का आग्रह करने की रही. किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने की हमारी मंशा कभी नहीं रही है. अगर हिंदू/मुस्लिम/जैन/सिख/ईसाई समाज में किसी की भावना को ठेस पहुंची है, तो भी हम दिल से खेद प्रकट करते हैं.' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मेरठ के इंचौली थाना के प्रभारी ब्रिजेश कुमार सिंह ने बताया कि घटना के संबंध में संबंधित अस्पताल के संचालक के खिलाफ मामला दर्ज करके आवश्यक कार्रवाई की जा रही है. वहीं मेरठ के मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. राज कुमार से जब इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा, 'निश्चित ही यह गलत है और हम इस मामले में संबंधित अस्पताल प्रशासन को नोटिस भेज रहे हैं. जवाब मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.'

वीडियो: मुसलमानों के इलाज पर पाबंदी लगाने वाले अस्पताल के खिलाफ मामला दर्ज