हमारा मकसद रहता है कि टारगेट हिट हुआ या नहीं, कितने मरे हम इसकी गिनती नहीं करते : एयरफोर्स चीफ बीएस धनोआ

विंग कमांडर अभिनंदन पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वह (विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान) अब विमान उड़ाएंगे या नहीं, यह उनकी मेडिकल फिटनेस पर निर्भर करता है.

खास बातें

  • कितने आतंकी मारे गए यह बताना सरकार का काम : एयर फोर्स चीफ
  • 'अगर नुकसान नहीं होता तो वह हमला नहीं करते'
  • मिग-21 बाइसन एक सक्षम विमान है
नई दिल्ली:

ऑपरेशन बालाकोट  में कितने आतंकी इस सवाल पर एयरफोर्स बीएस धनोआ ने कहा है कि हमारा मकसद रहता है कि टारगेट हिट हुआ या नहीं, कितने मरे हम इसकी गिनती नहीं करते.  धनोआ ने कोयम्बटूर में कहा, "लक्ष्य के बारे में विदेश सचिव ने अपने बयान में विस्तार से बताया था. अगर हम किसी लक्ष्य पर निशाना साधने की योजना बनाते हैं, तो हम उसे निशाना बनाते हैं, वरना क्यों उन्होंने (पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने) जवाब दिया होता. अगर हमने जंगल में बम गिराए होते, तो वह क्यों जवाब देते...?" वहीं मिग 21 के इस्तेमाल पर किए गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, "मिग-21 बाइसन एक सक्षम विमान है, इसे अपग्रेड कर दिया गया है, इसका रडार बेहतर है, हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलें और बेहतर हथियार सिस्टम हैं. धनोआ ने कहा कि  हम लक्ष्य को निशाना बनाते हैं वायुसेना मारे गए लोगों की गिनती नहीं किया करती. यह काम सरकार करती है.  इसके साथ ही उन्होंने साफ कहा कि भारतीय वायुसेना इस स्थिति में नहीं है कि वह मारे गए लोगों की गिनती बता सके. सरकार इसके बारे में बताएगी. 

 

'ऑपरेशन बालाकोट' के सबूत मांगने वाले नेताओं को कुमार विश्वास का करारा जवाब

 

 

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी बोले- पाकिस्तान को जवाब देने से मुंह चुराती थी UPA सरकार, पर मोदी सरकार में ऐसा नहीं

विंग कमांडर अभिनंदन पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वह (विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान) अब विमान उड़ाएंगे या नहीं, यह उनकी मेडिकल फिटनेस पर निर्भर करता है. इसीलिए बाहर आने के बाद उनका मेडिकल परीक्षण किया गया. जो भी इलाज ज़रूरी होगा, करवाया जाएगा. जब वह मेडिकल फिटनेस हासिल कर लेंगे, वह फिर लड़ाकू विमान के कॉकपिट में जा सकेंगे.

 

पाक के F-16 को गिराने वाले पहले IAF पायलट अभिनंदन ने डॉक्टरों से कहा- जल्द कॉकपिट में लौटकर विमान उड़ाना है

वायुसेना प्रमुख की ओर से आए इस बयान के बाद एक बार फिर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के उस दावे पर सवाल उठने लगे हैं जिसमें उन्होंने कहा है कि ऑपरेशन बालाकोट में कम से कम 250 आतंकी मारे गए हैं. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने तंज कसते हुए कहा है कि अब हर नामुमिक मुमकिन है.

 

 

IAF की सर्जिकल स्ट्राइक में कितने आतंकी मरे?​

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com