NDTV Khabar

दिल्ली की दमघोंटू आबोहवा : फिलहाल राहत के आसार नहीं, ऐसे करें अपना बचाव

अधिकारियों ने लोगों को घर के बाहर की कम से कम निकलने और निजी वाहनों के इस्तेमाल से बचने की सलाह दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली की दमघोंटू आबोहवा : फिलहाल राहत के आसार नहीं, ऐसे करें अपना बचाव

दिल्ली दिवाली के समय से अपने सर्वोच्च प्रदूषण स्तर का सामना कर रही है.

नई दिल्ली:

दिल्ली की वायु गुणवत्ता लगातार तीसरे दिन सोमवार को गंभीर श्रेणी में बनी रही क्योंकि हवा की गति और अन्य मौसमी कारक प्रदूषक तत्वों के बिखराव के लिए ‘बेहद प्रतिकूल' रहे. अधिकारियों ने कहा कि क्रिसमस की शाम तक राष्ट्रीय राजधानी में खतरनाक प्रदूषण जारी रहेगा. दिल्ली दिवाली के समय से अपने सर्वोच्च प्रदूषण स्तर का सामना कर रही है. 

अधिकारियों ने लोगों को घर के बाहर की कम से कम निकलने और निजी वाहनों के इस्तेमाल से बचने की सलाह दी है. मौसम विभाग ने कहा कि हवा की धीमी गति और कम तापमान अगले तीन से पांच दिन तक बने रहने की संभावना है जिससे प्रदूषक तत्वों का बिखराव अच्छे से नहीं होगा और वायु की गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में अगले दो-तीन दिन तक बरकरार रह सकती है. 

दिल्लीवालों सावधान: और जहरीली हो गई राजधानी की हवा, पांच दिन तक न निकलें घर से बाहर


केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक, समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक 448 के ‘गंभीर' स्तर पर रहा वहीं केंद्र संचालित वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली ने 468 का बढ़ा हुआ एक्यूआई दर्शाया है. सीपीसीबी के मुताबिक, सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी के 30 इलाकों में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर' दर्ज की गई जबकि पांच इलाकों में यह बहुत खराब श्रेणी में रही. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में नोएडा में सबसे खराब 464 का एक्यूआई दर्ज किया गया. वहीं गाजियाबाद और फरीदाबाद में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर' दर्ज की गई. गुरुग्राम में वायु गुणवत्ता बेहद खराब दर्ज की गई. 

दिल्ली में प्रदूषण: दुनिया में सबसे प्रदूषित हुई राजधानी की हवा, NGT के जुर्माने का भी कोई असर नहीं 

ऐसे करें अपना बचाव-
- घर से बाहर कम से कम निकलें.
- बाहर निकलने पर मास्क पहन लें.
- घर की खिड़कियां और दरवाजे बंद रखें.
- बाहर या घर में लकड़ियां जलाने से बचें.
- प्रदूषण फैलाने वाली कोई भी चीज जैसे मोमबत्ती या अगरबत्ती जलाने से परहेज करें
- घर में गीला पोछा लगाएं, ताकि प्रदूषण तत्व फर्श से साफ हो सकें.
- सड़क पर कम से कम चलें, ताकि वाहनों से निकलने वाले प्रदूषण से बचा जा सके.
- घर के बाहर पानी का छिड़काव करें, जिससे प्रदूषक तत्व उड़कर आपके घर के अंदर ना आएं.
- किसी भी तरह का निर्माण कार्य करने या उसके पास जाने से बचें.
- डीजल से चलने वाले वाहनों का उपयोग करने से बचें.

20 रुपये की शीशी का कमाल, किसान हुए मालामाल और प्रदूषण खत्म करने का निकला अनोखा तरीका

अगले दो दिनों तक निर्माण कार्य बंद रहेगा 
बढ़ते प्रदूषण के मद्देनजर दिल्ली के छह औद्योगिक क्षेत्रों में अगले दो दिनों तक निर्माण कार्य और औद्योगिक गतिविधियां बंद रहेंगी. केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की सिफारिशों पर केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने यह कार्रवाई की है. 26 दिसंबर से मौसम की परिस्थितियों में सुधार होने के मद्देनजर औद्योगिक गतिविधियों पर लगी रोक की समीक्षा की जाएगी. पर्यावरण सचिव ने बताया कि पिछले सालों की तुलना में इस साल प्रदूषण कम है. हालांकि, मौसम की स्थितियां बिगड़ने के कारण प्रदूषण की स्थिति अब गंभीर हुई है.

टिप्पणियां

पकी ईंट से मकान बनाने पर रोक लगाने की तैयारी, केंद्र सरकार ने उठाया यह कदम

VIDEO- दिल्ली में हवा हुई और जहरीली


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement