NDTV Khabar

बंगाल: BJP सांसद स्वप्न दासगुप्ता को छात्रों ने 6 घंटे तक कमरे में रखा कैद

भाजपा सांसद स्वप्न दासगुप्ता, को वामपंथी छात्रों ने विश्व भारती विश्वविद्यालय में छह घंटे तक कैद कर रखा, दासगुप्ता के साथ विश्वविद्यालय के कुलपति विद्युत चक्रवर्ती भी फंसे रहे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बंगाल: BJP सांसद स्वप्न दासगुप्ता को छात्रों ने 6 घंटे तक कमरे में रखा कैद

स्वप्न दासगुप्ता (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. स्वपन दासगुप्ता का बंगाल में विरोध
  2. स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया ने किया विरोध
  3. छह घंटे तक स्वपन दासगुप्ता रहे विश्वविद्यालय में बंद
कोलकाता:

भाजपा सांसद स्वप्न दासगुप्ता, विश्व भारती विश्वविद्यालय के कुलपति विद्युत चक्रवर्ती और कई अन्य लोग बुधवार को छह घंटे तक विश्वविद्यालय के एक भवन के भीतर बंद रहे, जिसके बाहर वामपंथ की ओर झुकाव रखने वाले सैंकड़ों छात्र धरने पर बैठे हुए थे. छात्रों का आरोप है कि राजनीतिक नेता समुदायों के बीच घृणा उत्पन्न कर रहे हैं. विश्वविद्यालय सूत्रों ने बताया छात्रों का धरना खत्म होने के बाद रात करीब दस बजे वे दोनों बाहर आए. दासगुप्ता को विश्वविद्यालय के शांतिनिकेतन के लिपिका सभागार में व्याख्यान श्रृंखला के तहत ''सीएए 2019 समझ और व्याख्या'' पर बोलना था.

JNU विवाद: कन्हैया कुमार ने फेसबुक पोस्ट लिखकर पूछा- फीस बढ़ाना जरूरत या साजिश?

टिप्पणियां

स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के कार्यकर्ताओं के विरोध प्रदर्शन के बाद, समारोह को विश्वभारती के सामाजिक कार्य विभाग के एक अन्य सभागार में स्थानांतरित कर दिया गया. अधिकारियों ने कहा, व्याख्यान शुरू होने के लगभग 45 मिनट बाद, आंदोलनकारी छात्र विभाग में पहुंचे, नारेबाजी की और कार्यक्रम को बाधित कर दिया गया. छात्रों को तितर-बितर करने के कुछ ही देर बाद दासगुप्ता के ट्विटर हैंडल से पोस्ट किया गया, ''विश्व भारती में बिना किसी टकराव के नाटकबाजी का अंत. टकराव चाहने वाले कुछ प्रदर्शनकारी हताश थे.''


योगेंद्र यादव ने JNU के VC को लेकर किया ट्वीट, कहा- उनका कोई बौद्धिक स्तर नहीं, वह संस्था के दुश्मन, उन्हें जाना होगा!
VIDEO: रवीश कुमार का प्राइम टाइम : JNU/JAMIA की हिंसा के ख़िलाफ़ देश की यूनिवर्सिटी में फैलती बग़ावत



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... पश्चिमी मीडिया के कवर पर क्यों बदली मोदी और भारत की छवि?

Advertisement