NDTV Khabar

कांग्रेस नेता अजय माकन ने बताया, 'नवंबर में ही तय हो गया था सुशील गुप्ता का नाम'

पूर्व कांग्रेस नेता सुशील गुप्ता को आम आदमी पार्टी (AAP) ने राज्यसभा का प्रत्याशी घोषित किया है. सुशील गुप्‍ता दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी के शेष दोनों प्रत्याशियों नारायणदास गुप्ता और संजय सिंह के साथ संसद के उच्च सदन में पहुंचने वाले हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस नेता अजय माकन ने बताया, 'नवंबर में ही तय हो गया था सुशील गुप्ता का नाम'

माकन के अनुसार, सुशील गुप्ता को सवा माह पहले 'आप' ने प्रत्‍याशी बनाने का वादा कर दिया था (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. कुछ दिन पहले तक कांग्रेस के सदस्‍य थे सुशील गुप्‍ता
  2. माकन का ट्वीट, 'आप ने सुशील से इस बारे में वादा किया था
  3. सुशील के अलावा नारायण दास और संजय सिंह भी हैं प्रत्‍याशी
नई दिल्‍ली:

पूर्व कांग्रेस नेता सुशील गुप्ता को आम आदमी पार्टी (AAP) ने राज्यसभा का प्रत्याशी घोषित किया है. सुशील गुप्‍ता दिल्ली में सत्तासीन आम आदमी पार्टी के शेष दोनों प्रत्याशियों नारायणदास गुप्ता और संजय सिंह के साथ संसद के उच्च सदन में पहुंचने वाले हैं. कुछ दिन पहले तक सुशील गुप्ता कांग्रेस के सदस्य रहे हैं. उनके नाम की घोषणा होते ही कांग्रेस के दिल्ली प्रदेशाध्यक्ष अजय माकन ने ट्विटर पर बताया कि सुशील गुप्ता से लगभग सवा महीने पहले ही 'आप' ने वादा किया था कि उन्हें राज्यसभा का सदस्य बनाया जाएगा.


कांग्रेस के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने इसे नामुमकिन बताया तो सुशील गुप्ता ने मुस्कुराते हुए कहा, 'सर, आप नहीं जानते...'
वीडियो: आम आदमी पार्टी के राज्‍यसभा उम्‍मीदवार तय इस ट्वीट से कुछ साफ होता हो या नहीं होता हो, यह तो नहीं पता, लेकिन इतना ज़रूर लगता है कि आम आदमी पार्टी ने बहुत पहले से यह विचार करना शुरू कर दिया था कि पार्टी के वरिष्ठ नेता कुमार विश्वास को राज्यसभा नहीं भेजे जाने की स्थिति में किसे संसद के उच्च सदन में भेजा जा सकता है.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... क्या 2019 के चुनाव में मैं भी हार गया हूं

Advertisement