किसान आंदोलन पर सियासत, अकाली दल के मुखिया ने खट्टर पर लगाया किसानों की "छवि खराब" करने का आरोप

बादल ने कहा कि खट्टर को किसानों को "बदमान और उनकी छवि खराब" नहीं करनी चाहिए, जो कि भारत को आत्मनिर्भर बनाते हैं और उनकी खाद्य जरूरतों को पूरा करते हैं.

किसान आंदोलन पर सियासत, अकाली दल के मुखिया ने खट्टर पर लगाया किसानों की

खालिस्तान का मुद्दा उठाने पर बादल ने खट्टर पर साधा निशाना

चंडीगढ़ :

शिरोमणि अकाली दल (SAD) के मुखिया सुखबीर सिंह बादल (Sukhbir Singh Badal) ने शनिवार को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर (Manoharlal Khattar) पर कृषि कानूनों (Farm Laws) का विरोध कर रहे किसानों की "छवि खराब करने और अपमान" करने का आरोप लगाया है. साथ ही बादल ने कहा कि उनकी पार्टी ने किसानों के आंदोलन का समर्थन वाले राजनीतिक दलों के साथ समन्वय स्थापित करने के लिए तीन सदस्यीय पैनल का गठन किया है. 

बादल ने कहा, "शिरोमणि अकाली दल हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के उस बयान की कड़ी निंदा करता है, जिसमें उन्होंने कृषि विरोधी कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को खालिस्तानी बताया है. यह किसानों और उनके आंदोलन को बदनाम करने की साजिश है." 

कृषि कानून के खिलाफ जारी किसानों के प्रदर्शन में खालिस्तानी (Khalistan) तत्वों के शामिल होने के बारे में हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार को मीडिया से बात की.

मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा, 'हमारे पास इनपुट है कि कुछ अवांछित तत्व भीड़ के अंदर आए हुए हैं. हमारे पास इसकी रिपोर्ट्स है, अभी इसका खुलासा करना ठीक नहीं है. उन्होंने सीधे नारे लगाए हैं. जो वीडियो सामने आए हैं, उनमें वे कह रहे हैं कि "जब इंदिरा गांधी को ये कर सकते हैं, तो मोदी को क्यों नहीं कर सकते हैं." 

बादल ने कहा कि खट्टर को किसानों को "बदमान और उनकी छवि खराब" नहीं करनी चाहिए, जो कि भारत को आत्मनिर्भर बनाते हैं और उनकी खाद्य जरूरतों को पूरा करते हैं. बादल ने कहा, "उन्हें तुरंत अपना बयान वापस लेना चाहिए और खालिस्तान का मुद्दा उठाने के बजाये केंद्र सरकार से कहना चाहिए कि वह किसानों से बात करे तथा उनकी समस्याएं सुलझाए."

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com