NDTV Khabar

मुलायम सिंह और अखिलेश यादव की संपत्तियों की जांच का मामला, सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई याचिका

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) और बेटे अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में याचिका दायर की गई है.

697 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुलायम सिंह और अखिलेश यादव की संपत्तियों की जांच का मामला, सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई याचिका

Mulayam Singh & Akhilesh Yadav: सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर.

खास बातें

  1. लोकसभा चुनाव से पहले बढ़ी मुलायम और बेटे अखिलेश यादव की मुसीबत
  2. आय से अधिक संपत्ति के मामले में दायर हुई सुप्रीम कोर्ट में याचिका
  3. याची ने कहा- सीबीआई को स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने का आदेश दे कोर्ट
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav) और बेटे अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की मुसीबत बढ़ सकती है.उनके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट(Supreme Court) में याचिका दायर की गई है. इस याचिका में मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट सीबीआई से कहे कि वह मुलायम और अखिलेश की कथित आय से अधिक संपत्तियों के मामले में जांच पर स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करे. सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के खिलाफ सीबीआई काफी समय से आय से अधिक संपत्ति मामले की जांच कर रही है. उन पर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का आरोप है. याचिका में कहा गया है कि इस जांच की अब तक क्या प्रगति है, इससे कोर्ट के सामने लाया जाए. 

यह भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव से पहले BSP प्रमुख मायावती की मुश्किलें बढ़ीं, CBI ने अब इस मामले में दर्ज किया केस
'ईडी और सीबीआई से बीजेपी का गठबंधन'
इससे पूर्व सपा सरकार में हुए खनन घोटाले में सीबीआई की जांच पर अखिलेश यादव बीजेपी पर हमला कर चुके हैं.  अखिलेश यादव ने तृणमूल कांग्रेस की ब्रिगेड परेड ग्राउंड में पिछले दिनों आयोजित रैली में कहा था कि हम पार्टियों से गठबंधन कर रहे हैं, मगर केंद्र की मोदी सरकार सीबीआई और ईडी जैसी एजेंसियों से गठबंधन कर रही है. उन्होंने आगे कहा कि आज अधिकारों को खतरा है. बंगाल मुझे आने का मौका कई बार मिला है. मगर आज जो मौका मिला है वह दूसरा है. जो बात बंगाल से चलेगी वह देश में दिखाई देगी. 12 तारीख को सपा-बसपा और हमारे सहयोगी दलों का गठबंधन हो गया. सब सोचते थे कि हमारा गठबंधन नहीं होगा. जब गठबंधन हुआ तो देश में खुशी की लहर दौड़ गई. 

यह भी पढ़ें- ममता के मंच से गरजे अखिलेश यादव: चुनाव के समय मोदी सरकार CBI और ED से गठबंधन कर रही है


 अखिलेश यादव ने कहा कि नए साल में नया प्रधानमंत्री आ जाए तो कितनी खुशी होगी हमें. कभी कभी वे चिढ़ाने के लिए कहते हैं कि इनके पास दूल्हा ज्यादा है. मगर हम कहते हैं कि ठीक है हमारे पास दुल्हे अधिक हैं, मगर जनता जिसे चुनेगी वह ही प्रधानमंत्री बनेगा. इससे पहले भी ऐसी सरकारें बनी हैं. बीजेपी  ने देश को निराश कर दिया है. यह तो अभी कम दलों का गठबंधन है. अभी तो आगे होगा. हमने आपसे सीखा है. आपने गठबंधन की सरकार बनाई तो हमने भी एक खूबसूरत गुलदस्ता बनाने का काम किया है. आपकी 40 पार्टियों के साथ गठबंधन है. हमने गठबंधन का तरीका भाजपा से ही सीखा है. चुनाव आते-आते बीजेपी सीबीआई और ईडी से गठबंधन कर रही है और हम लोग जनता की आवाज से गठबंधन कर रहे हैं. हमारे सहयोगी दलों के मिलने के बाद उत्तर प्रदेश में भाजपा को डर लग रहा है. मगर हम जनता से गठबंधन कर रहे हैं. जबसे हम सपा-बसपा मिल गए, उस दिन से बीजेपी में रोज बैठकें हो रही हैं. अगर तमिलनाडु बीजेपी को जीरो दे सकता है तो हम और भी बड़ा झटका दे सकते हैं. 

टिप्पणियां

वीडियो- यूपीः खनन घोटाले में आईएएस चंद्रकला सहित कई लोगों के घर छापेमारी 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement