NDTV Khabar

महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले अखिलेश यादव, कहा- अब तो लगता है जिसका गवर्नर...

अखिलेश यादव ने शनिवार को कहा, 'सुबह मैं सोच रहा था कि कुछ अन्य पार्टियां मिलकर राज्य में सरकार बनाने जा रही हैं. हालांकि अब मुझे लगता है कि जिसका गवर्नर उसकी सरकार.' 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले अखिलेश यादव, कहा- अब तो लगता है जिसका गवर्नर...

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर भाजपा पर साधा निशाना
  2. भाजपा ने एनसीपी को तोड़कर बना ली राज्य में सरकार
  3. कहा- अब लगता है कि जिसका गवर्नर उसकी सरकार
नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) ने महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए कहा कि अब तो लगता है कि जिसका गवर्नर उसकी सरकार. समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने यह टिप्पणी महाराष्ट्र में भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के बाद की है. उन्होंने शनिवार को कहा, 'सुबह मैं सोच रहा था कि कुछ अन्य पार्टियां मिलकर राज्य में सरकार बनाने जा रही हैं. हालांकि अब मुझे लगता है कि जिसका गवर्नर उसकी सरकार.' 

महाराष्ट्र में मचे सियासी संग्राम के बीच NCP का एक विधायक ‘लापता', पुलिस में शिकायत दर्ज

बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव मे बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं. बीजेपी और शिवसेना ने मिलकर बहुमत का 145 का आंकड़ा पार कर लिया था, लेकिन शिवसेना ने 50-50 फॉर्मूले की मांग रख दी जिसके मुताबिक ढाई-ढाई साल सरकार चलाने का मॉडल था. शिवसेना का कहना है कि बीजेपी के साथ समझौता इसी फॉर्मूले पर हुआ था लेकिन बीजेपी का दावा है कि ऐसा कोई समझौता नहीं हुआ. इसे लेकर मतभेद इतना बढ़ा कि दोनों पार्टियों की 30 साल पुरानी दोस्ती टूट गई.


NCP को तोड़ने के बाद भी क्या महाराष्ट्र में BJP बहुमत साबित कर पाएगी?

इसके बाद Congress-NCP के साथ मिलकर शिवसेना ने सरकार बनाने की कवायद शुरू की. कई दिनों की उहापोह के बाद कांग्रेस-NCP आखिरकार शिवसेना को समर्थन देने के लिए राजी हो गईं और शुक्रवार की शाम तक कई दौर की बैठकों के बाद शरद पवार ने घोषणा की महाराष्ट्र के नए सीएम उद्धव ठाकरे होंगे और शनिवार को तीनों दल राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे.

टिप्पणियां

अजित पवार कैसे बने 'गेम चेंजर' और NCP की 'घड़ी' से कैसे बनी BJP की सरकार, पूरी कहानी

दिन भर की कवायद के बाद जब कांग्रेस-एनसीपी और शिवनेता के नेता चैन की नींद सो रहे थे. उसी समय रात 11.45 बजे बीजेपी ने एनसीपी नेता अजित पवार के साथ मिलकर डील तय कर ली और रात में ही राज्यपाल सचिववालय को राष्ट्रपति शासन हटाने की अधिसूचना जारी करने के लिए कहा गया. इस दौरान अजित पवार रात भर देवेंद्र फडणवीस के साथ ही रहे. सुबह 5.47 बजे राष्ट्रपति शासन हटाने की अधिसूचना जारी की जा चुकी थी लेकिन इसकी घोषणा सुबह 9 बजे की गई. इससे पहले फडणवीस और अजित पवार राजभवन पहुंच चुके थे और 8 बजे के करीब दोनों नेताओं ने शपथ ले ली.

बीजेपी ने राजभवन का दुरुपयोग किया: संजय राउत​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... CAA पर फिलहाल रोक से SC का इनकार, केंद्र 4 हफ्ते में देगा जवाब, CJI बोले- एकतरफा रोक नहीं लगा सकते

Advertisement