NDTV Khabar

सांसद से पूछा सवाल तो पत्रकार से की गाली गलौज, माइक फेंक कर दी सिर फोड़ने की धमकी, कार्यकर्ताओं ने मंगवाई माफी

एक टीवी चैनल के पत्रकार ने आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर गठबंधन की योजना के बारे में सवाल किया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. बदरूद्दीन अजमल ने की पत्रकार से बदसलूकी
  2. सवाल पूछने पर फेंका माइक
  3. सिर फोड़ने की दी धमकी
गुवाहाटी:

2019 लोकसभा चुनाव से जुड़ा सवाल पूछने पर एआईयूडीएफ (AIUDF) प्रमुख बदरूद्दीन अजमल (Badruddin Ajmal) ने एक पत्रकार से बदसलूकी की है. सांसद की यह हरकत कैमरे में कैद हो गई. अजमल से बुधवार को जब एक पत्रकार ने अगले आम चुनाव को लेकर सवाल किया तो वह भड़क गए और पत्रकार को अपशब्द कहने लगे तथा उसका सिर तोड़ने तक की धमकी दी. वहीं उनके समर्थकों ने पत्रकार को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने पर मजबूर किया. यह घटना तब हुई जब अजमल एक कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से बात कर रहे थे. इस कार्यक्रम में उन्होंने दक्षिण सलमारा जिले के पंचायत चुनाव के विजेताओं का अभिनंदन किया.

पत्रकार ने बाद में लोकसभा सदस्य के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. एक स्थानीय टीवी चैनल के पत्रकार ने आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर गठजोड़ की एआईयूडीएफ की योजना के बारे में सवाल किया. लोकसभा सदस्य ने सीधा जवाब देने से बचते हुए कहा, ‘हम दिल्ली में महागठबंधन (विपक्ष) के साथ हैं.'


VIDEO में बीजेपी नेता की गुंडागर्दी कैद, दिव्यांग ने अखिलेश को वोट देने की बात की तो मुंह में डंडा घुसेड़ा

इसके बाद पत्रकार ने पूछा कि चुनाव के बाद कौन सी पार्टी जीतती है, क्या एआईयूडीएफ इसको देखकर अपना रूख बदलेगी. इस पर अजमल भड़क गए और कहा, ‘तुम कितना करोड़ रुपए दोगे? (अपशब्द).. यह पत्रकारिता है? तुम जैसे लोग पत्रकारिता को बदनाम कर रहे हैं. यह व्यक्ति पहले से ही हमारे खिलाफ है.'

पश्चिम बंगाल: राज्य बीजेपी अध्यक्ष ने पुलिसकर्मियों को दी धमकी, कहा- सत्ता में आए तो वर्दी उतार देंगे

इसके बाद अजमल ने और भी अपशब्द कहे और दूसरे पत्रकार का माइक छीनकर सवाल पूछने वाले पत्रकार को मारने की कोशिश की.

बता दें, ऐसा ही मामला हालही में बंगाल में देखने को मिला था, जहां पश्चिम बंगाल बीजेपी के प्रमुख दिलीप घोष ने कोलकाता पुलिस को वर्दी उतार देने की धमकी दी थी. उन्होंने पुलिस अधिकारियों से कहा था कि अगर राज्य में बीजेपी सत्ता में आई तो वह उनकी वर्दी उतार देंगे. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि ये पुलिसकर्मी अब इस वर्दी के लायक नहीं रहे हैं. उन्होंने कहा था कि हम हर चीज को रिकॉर्ड कर रहे हैं. हम सत्ता में आने के बाद उन अधिकारियों की भी पहचान करेंगे जिन्होंने हमारे कार्यकर्ताओं और नेताओं पर फर्जी मामले दर्ज किए. इन सबकों इसका खामियाजा भुगतना होगा. 

टिप्पणियां

(इनपुट- भाषा)

पार्टी नेता की मौत पर भड़के CM कुमारस्वामी, हत्यारे को 'बेरहमी से शूटआउट में मार डालो' का आदेश देते कैमरे में हुए कैद, देखें VIDEO



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement