दिल्ली में सभी तरह के पटाखों पर लगाई गई पाबंदी, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने की घोषणा

सीएम केजरीवाल ने अधिकारियों के साथ बैठक के बाद लिए पांच अहम फैसले.

नई दिल्ली:

दिल्ली की सरकार केजरीवाल सरकार ने कोरोना वायरस (Coronavirus) और बढ़ते प्रदूषण (Air Pollution) को देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में किसी भी तरह के पटाखों की बिक्री पर रोक लगा दी है. इससे पहले दिल्ली में ग्रीन पटाखों की ब्रिकी की छूट थी लेकिन अब दिल्ली सरकार ने इस पर भी रोक लगा दी है. यानि दिल्ली में अब किसी भी तरह के पटाखों की ना तो खरीद-फरोख्त हो सकती है और ना ही पटाखे चलाए जा सकते हैं.

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने आज राजधानी में लगातार बढ़ते कोरोना के मामलों को लेकर राजधानी के मुख्य सचिव, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और विभिन्न डीएम के साथ अहम बैठक की.

यह भी पढ़ें- दिल्ली में प्रदूषण पर लगाम लगाने की तैयारी, सीएम केजरीवाल ने कहा अब कोई नई मैन्युफैक्चरिंग इंडस्ट्री नहीं खुलेगी

सीएम ने ट्वीट कर बताया कि त्योहारों के सीजन और प्रदूषण के बढ़ते स्तर के चलते दिल्ली में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं इसलिए दिल्ली सरकार ने 5 अहम कदम उठाए हैं.

सीएम केजरीवाल ने अपने पहले ट्वीट में दो फैसलों के बारे में जानकारी दी. जिनमें पटाखों पर बैन और दिल्ली सरकार के अस्पतालों में ऑक्सीजन और आईसीयू बेड की संख्या बढ़ाना और मेडिकल सुविधाओं को और बेहतर करना शामिल हैं.

यह भी पढ़ें- Delhi Pollution: पराली से फैले धुएं पर बोले केजरीवाल - 'बस आखिरी साल, मिल गया है समाधान'

केजरीवाल ने अगले ट्वीट में बैठक में लिए गए तीसरे निर्णय के बारे में लिखा, 'दिल्ली हाईकोर्ट ने प्राइवेट अस्पतालों में आईसीयू बेड की संख्या बढ़ाए जाने के मामले में स्टे लगा दिया है, हम सुप्रीम कोर्ट में कल अपील दाखिल करेंगे. हमें उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट महत्वपूर्ण स्थिति को ध्यान में रखते हुए रोक हटा देगा.

बैठक में चौथा फैसला दिल्ली सरकार ने टारगेट टेस्टिंग का लिया है. इसके अलावा पांचवां फैसला यह है कि 'यह सुनिश्चित करने के लिए सभी कदम उठाए जाने चाहिए कि मृत्यु दर में वृद्धि न हो.'


एंटी क्रैकर कैंपन चला रही दिल्ली सरकार, सिर्फ ग्रीन पटाखे बिक रहे

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com