NDTV Khabar

Vinta Nanda ने Facebook पर इस तरह बयां की डरावनी आपबीती, आलोक नाथ पर लगाया रेप का आरोप

महिला डायरेक्‍टर विन्‍ता नंदा (Vinta Nanda) ने सीधे तौर पर आलोक नाथ (Alok Nath) का नाम नहीं लिया है, लेकिन अपनी पोस्‍ट में उन्‍होंने सबसे संस्‍कारी शख्‍स का जिक्र किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Vinta Nanda ने Facebook पर इस तरह बयां की डरावनी आपबीती, आलोक नाथ पर लगाया रेप का आरोप

अभिनेता आलोक नाथ

खास बातें

  1. एक्‍टर आलोक नाथ पर रेप का आरोप लगा है
  2. महिला डायरेक्‍टर विंता नंदा ने फेसबुक पोस्‍ट के जरिए आरोप लगाए हैं
  3. पोस्‍ट में उन्‍होंने 'संस्‍कारी' शख्‍स का नाम लिया है
नई दिल्‍ली:

#MeToo कैम्‍पेन अब भारत में भी जोर पकड़ रहा है. एक्‍टर तनुश्री दत्ता (Tanushree Dutta) के बाद अब कई महिलाएं खुलकर सामने आ रही हैं और अपने साथ हुए यौन शोषण के बारे में बता रही हैं. इस कड़ी में एक और नाम जुड़ गया है. जी हां, 90 के दशक की प्रोड्यूसर, टीवी राइटर और डायरेक्‍टर विन्‍ता नंदा (Vinta Nanda) ने अपनी चुप्‍पी तोड़ते हुए संगीन आरोप लगाए हैं. टीवी शो 'तारा' से घर-घर में पहचान बनाने वाली विंता ने टीवी और फिल्‍म इंडस्‍ट्री के सबसे 'संस्‍कारी' शख्‍स पर रेप का आरोप लगाया है. विन्‍ता ने आपबीती फेसबुक पोस्‍ट के जरिए बयां की हैं. हालांकि उन्‍होंने अपनी पोस्‍ट में कहीं भी सीधे तौर पर किसी का नाम नहीं लिया है लेकिन सबसे 'संस्‍कारी शख्‍स' की ओर इशारा कर उन्‍होंने साफ तौर पर एक्‍टर आलोक नाथ (Alok Nath) पर रेप का आरोप लगाया है. 

कौन हैं Vinta Nanda जिन्‍होंने आलोक नाथ पर लगाया है रेप का आरोप?


विन्‍ता ने फेसबुक पर काफी लंबी पोस्‍ट लिखी है. यह है उस फेसबुक पोस्‍ट का हिन्‍दी अनुवाद:  

विन्‍ता की फेसबुक पोस्‍ट के मुताबिक, ''उसकी दोस्‍त मेरी बेस्‍ट फ्रेंड थी. हम अकसर एक-दूसरे के घर जाया करते थे, हमारा एक ही ग्रुप था और उनमें से ज्‍यादातर का संबंध थिएटर से था. उस वक्‍त मैं टीवी के नंबर वन शो तारा की प्रोड्यूसर और राइटर थी. वह मेरे शो की लीड लड़की के पीछे पड़ा हुआ था. लेकिन लड़की को उसमें कोई दिलचस्‍पी नहीं थी. वह शराबी, बेशर्म और घिनौना था लेकिन वह उस दशक का टीवी स्‍टार भी था. इसलिए बुरे बर्ताव के लिए न सिर्फ उसे माफ कर दिया जाता था बल्कि कई लोग उसे और बुरा करने के लिए उकसाते रहते थे.'' 

''वह लीड फीमेल एक्‍टर का शोषण करता था. वह सेट्स पर उससे पंगे लेता था और सब लोग चुपचाप तमाशा देखते थे. जब लड़की ने हमसे शिकायत की तो हमने उस आदमी को बाहर निकालने का फैसला कर लिया. हमें उन दोनों के बीच आखिरी शॉट चाहिए था और उसके बाद हम उसे बताने वाले थे कि हमें अब उसकी जरूरत नहीं है. उसे हमारे प्‍लान के बारे में पता चल गया और शूटिंग वाले दिन वह शराब पीकर सेट पर आया. वह तब तक पीता रहा जब तक कि उसे शॉट के लिए नहीं बुला लिया गया. जैसे ही शॉट लेने का वक्‍त आया कैमरा रोल्‍ड होते ही उसने लड़की के साथ बदतमीजी शुरू कर दी. मेरे शो की हीरोइन ने उसे थप्पड़ जड़ दिया. हमने उसे सेट छोड़कर चले जाने के लिए कहा और उसे ये बता दिया कि अब हमें उसकी जरूरत नहीं है.'' 

आलोक नाथ को CINTAA ने भेजेगा नोटिस

''सेट पर उसके बिना जिंदगी चल रही थी और हमारे कुछ कॉमन दोस्‍तों ने हमारा पैच-अप करने की कोशिश की. शो की रेटिंग अच्‍छी चल रही थी लेकिन तभी चैनल का मैनेजमेंट बदल गया और उन्‍होंने हमसे शो की लीड एक्‍ट्रेस को बदलने के लिए कहा. हमने मना किया तो मैनेजमेंट ने नई पीढ़ी की कहानी लाकर शो में तारा की बेटी के कैरेक्‍टर दिखाने के लिए कहा. हम इस पर राजी हो गए. अगले दिन जब हम नई पीढ़ी की स्‍टोरी शूट करने वाले थे तब हमें पता चला कि हमने जिस एक्‍टर को निकाल दिया था अब उसे वापस बुला लिया गया है. हमने शूटिंग जारी रखी क्‍योंकि हमारे पास विरोध करने का विकल्‍प नहीं था. उसी चैनल पर हमारे चार और शो भी चल रहे थे. सभी की टीआरपी अच्‍छी थी. अगर हम उनकी बात नहीं मानते तो इसका मतलब उन धारावाहिकों को भी नुकसान पहुंचाना था.'' 

''नई पीढ़ी वाली कहानी एक हफ्ते तक टीवी पर प्रसारित हुई. हमें नए मैनेजमेंट के सीईओ ने बुलाकर तारा समेत बाकी के चार धारावाहिकों को बंद करने का फरमान सुना दिया. सीईओ ने मेरा अपमान किया. उसने मुझे ऑफिस से बाहर चले जाने के लिए कहा और मुझसे कहने लगा कि मेरी जैसी औरत को देश से बाहर निकाल देना चाहिए. हमारे सारे शो तत्‍काल प्रभाव प्रभाव से बंद कर दिए गए और मुझे अपनी प्रोडक्‍शन कंपनी बंद कर देनी पड़ी.'' 

''फिर वह वक्‍त आया जब मेरे साथ सबसे खराब बात हुई. मुझे अपनी जिंदगी से प्‍यार था. मैं एक सफल महिला थी. मैं सिगरेट पीती थी, शराब पीती थी. मैं एक आजाद इंसान थी. एक बार मुझे इस शख्स के घर एक पार्टी में बुलाया गया. उसकी पत्‍नी जोकि मेरी खास दोस्त थी शहर से बाहर थी. हम सभी दोस्तों का मिलना आम था, तो ऐसा कुछ हमने सोचा भी नहीं, लेकिन जैसे ही शाम होने लगी, मेरे ड्रिंक्स में कुछ मिला दिया गया और मुझे अजीब सा महसूस होने लगा. रात 2 बजे मैं उसके घर से निकली. किसी ने मुझे ड्रॉप करने के लिए नहीं कहा. मुझे महसूस होने लगा कि यहां ज्यादा देर तक रहना सही नहीं है. मैंने खाली सड़कों पर अकेले ही पैदल चलना शुरू कर दिया, जबकि मेरा घर दूर था...और फिर बीच रास्ते उसने मेरा रास्ता रोक लिया.''

''वह अपनी गाड़ी चला रहा था और गाड़ी रोककर मुझे मेरे घर ड्रॉप करने के लिए कहा. मैं विश्वास करके गाड़ी में बैठ गई. इसके बाद मुझे हल्का-हल्का याद है. मुझे याद है कि और ज्यादा शराब मेरे मुंह में डाली गई और काफी हिंसा की गई.अगली सुबह मैं जब उठी तो मुझे काफी दर्द हो रहा था. मेरा सिर्फ रेप ही नहीं किया गया था बल्कि मुझे मेरे घर ले जाकर और अमानवीय व्यवहार किया गया. मैं अपने बिस्तर से उठ नहीं पाई. मैंने अपने कुछ दोस्तों को इस बारे में बताया, लेकिन सभी ने मुझे इसे भूलने और आगे बढ़ने की सलाह दी.''

''मेरी कंपनी बंद हो गई थी, लेकिन मुझे प्‍लस चैनल की एक सीरीज के लिए लिखने और डायरेक्‍ट करने का काम मिल गया. वह आदमी उस शो का भी लीड एक्‍टर बन बैठा. उसने ऐसा माहौल बनाया जिसमें मुझे डर लगने लगा था. इसलिए मैंने प्रोड्यूसर से कहा कि वे मुझे जानें दें क्‍योंकि मैं वहां रहकर काम नहीं कर सकती जहां वो आदमी हो. मैं शो के लिए लिखती रही.'' 

''और अब सबसे दर्दनाक हिस्सा. वह मुख्य वजह कि मैं क्यों अब तक चुप रही और क्यों अब तक कुछ भी खुलकर नहीं बोला. मैं जब नई सीरीज़ में काम कर रही थी तो मुझे इस शख्स ने अपने घर बुलाया और मैं फिर प्रताड़ित होने के लिए उसके घर चली गई. मुझे नौकरी चाहिए थी और मैं उस नौकरी को छोड़ना नहीं चाहती थी क्योंकि मुझे पैसों की ज़रूरत थी. लेकिन इसके बाद मैंने नौकरी छोड़ दी.''
 
''मैं तब तक बुरी तरह बिखर चुकी थी. मेरा नर्वस ब्रेकडाउस हो गया था लेकिन मैं बहादुर बनने की कोशिश कर रही थी. मैं अपनी जिंदगी के धागे जोड़ने की कोशिश कर रही थी लेकिन चैनल, नेटवर्क, सेट और रिहर्सल के बीच मैं सनकी हो गई थी. मैंने लिखना जारी रखा लेकिन मैं जब भी किसी शो के लिए बात करने जाती थी मीटिंग के दौरान मैं रोने लगती थी. आखिरकार मैंने हार मान ली.'' 

''लगभग 20 साल बाद अब मैं पूरी तरह से ठीक हूं. मुझे ऑडियंस से बात करने में घबराहट होती है. मेरी जैसी निडर महिला बड़ी ऑडियंस से घंटों तक बात कर सकती थी. मुझे यही बात सबसे ज्‍यादा परेशान करती है इसलिए मैं इस पर काम कर रही हूं. मैं अब अपनी कहानी के बारे में इसलिए बता रही हूं क्‍योंकि मैं नहीं चाहती कि कोई दूसरी लड़की भी अपना सच छिपाए. मेरी चुप्‍पी और ज्‍यादा खतरनाक थी. मैं आसान शिकार इसलिए बन गई क्‍योंकि मेरी चुप्‍पी की वजह से ऐसा संदेश गया कि मैं डरती हूं इसलिए कभी अपना मुंह नहीं खोलूंगी.''

''मेरे साथ जो भी हुआ मैंने उसके बारे में जब भी लिखा उससे दिक्‍कतें बढ़ गईं क्‍योंकि मुझे काम मिलना बंद हो गया. अपने डर से निपटने के लिए मैं हर शाम बेहिसाब शराब पीने लगी और यहां तक कि ड्रग्‍स का भी सहारा लिया. मेरे पास दोस्‍त थे जिन्‍होंने जिंदगी फिर से शुरू करने में मेरी मदद की. सोशल मीडिया ने भी मेरी मदद की. एक प्रोफेशनल के तौर पर भले ही मेरी पहचान दब चुकी है लेकिन फेसबुक पर दुनिया के सामने मेरी पहचान है.''

''मैंने 19 सालों तक इस घड़ी का इंतजार किया. मैं चिल्‍लाकर कहती हूं जिसकी भी जिंदगी के साथ खिलवाड़ हुआ है वह सबके सामने आए और जोर से अपनी बात कहे. खुद को रोको मत. यह बदलाव का समय है और ऐसे में आपकी चुप्‍पी इसके सामने रुकावट है. बोलो और छत के ऊपर खड़े होकर चिल्‍लाओ. मेरी दोस्‍त नूतन जो इस वक्‍त दुनिया में नहीं है वह मुझे अंधेरी में लोखंडवाला कॉम्‍प्‍लेक्‍स ले गई जहां उसने मुझे 100 खाली बोतलों तोड़ने के लिए दीं. मैंने वैसा ही किया और अपना सारा गुस्‍सा और खींझ निकाल दी. उसके बाद से फिर मैंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा.'' 

टिप्पणियां

''विडंबना यह है कि जिसने भी मेरे साथ खिलवाड़ किया वह एक मंझा हुए एक्‍टर है जिसे फिल्‍म और टीवी इंडस्‍ट्र का सबसे #Sanskaari शख्‍स माना जाता है.'' 


Video: #MeToo कैंपेन की आंच पहुंची 'संस्कारी बाबू' आलोकनाथ तक



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement