NDTV Khabar

आतंकी हमले के बाद भी नहीं थमी अमरनाथ यात्रा, हर-हर महादेव...के जयकारे के साथ रवाना हुआ जत्था

श्रीनगर में हुए हमले के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच जत्था रवाना किया गया. भोले बाबा के दर्शन को लेकर श्रद्धालुओं में उत्साह देखने को मिला. शिव के भक्त जोश के साथ हर-हर महादेव..., बम भोले जैसे जयकारे लगाते हुए बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए आगे बढ़ गए.

1094 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
आतंकी हमले के बाद भी नहीं थमी अमरनाथ यात्रा, हर-हर महादेव...के जयकारे के साथ रवाना हुआ जत्था

मंगलवार सुबह भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना होता श्रद्धालुओं का जत्था.

खास बातें

  1. अमरनाथ यात्रा रोकने के लिए आतंकियों ने किया था हमला
  2. हमले में 7 तीर्थ यात्रियों की हुई मौत और 19 लोग घायल हुए
  3. हमले के बाद भी नहीं रोकी गई अमरनाथ यात्रा, मंगलवार तड़के जत्था रवाना
नई दिल्ली: अमरनाथ यात्रा रोकने के इरादे से निहत्थे श्रद्धालुओं पर गोलियां बरसाने वाले आतंकवादियों को शिव भक्तों ने मंगलवार सुबह करारा जवाब दिया. सोमवार देर शाम आतंकी हमले में 7 तीर्थ यात्रियों की मौत के बाद भी मंगलवार सुबह 3 बजे जम्मू से पहलगाम और बालटाल  के लिए अमरनाथ यात्रा के लिए जत्था रवाना हुआ. श्रीनगर में हुए हमले के बाद कड़ी सुरक्षा के बीच जत्था रवाना किया गया. भोले बाबा के दर्शन को लेकर श्रद्धालुओं में उत्साह देखने को मिला. शिव के भक्त जोश के साथ हर-हर महादेव..., बम भोले जैसे जयकारे लगाते हुए बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए आगे बढ़ गए.

मालूम हो कि जम्मू एवं कश्मीर के अनंतनाग जिले में सोमवार को अमरनाथ यात्रियों की एक बस पुलिस दल को निशाना बनाकर किए गए आतंकवादी हमले की चपेट में आ गई, जिसमें छह श्रद्धालुओं की मौत हो गई. हमले में पुलिसकर्मियों सहित 14 लोग घायल हुए हैं.
amarnath yatra
अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना जत्थे के साथ सुरक्षाकर्मी.

जम्मू एवं कश्मीर पुलिस तथा केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने बताया कि दर्शन कर लौट रहे श्रद्धालुओं को लेकर बालटाल से मीर बाजार को जा रही बस पर सोमवार की देर शाम 8.20 बजे बटेंगो में यह हमला हुआ.

आतंकवादियों ने इलाके में दो और जगहों पर सुरक्षा बलों को निशाना बनाते हुए हमला किया.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि आतंकवादियों ने गुजरात से आए अमरनाथ यात्रियों से भरी एक मिनी बस पर हमला किया. उन्होंने बताया कि बस अमरनाथ श्राइन बोर्ड द्वारा अमरनाथ यात्रा के लिए पंजीकृत नहीं थी, इसलिए बस के साथ सुरक्षा में पुलिस भी नहीं थी.

पुलिस महानिरीक्षक मुनीर खान ने बताया कि आतंकवादी हमले में सात श्रद्धालुओं की मौत हो गई, जबकि 14 अन्य घायल हुए हैं. घायलों को श्रीनगर के आर्मी बेस हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया है.

खान ने बताया कि यह आतंकवादी हमला अमरनाथ यात्रियों को नहीं, बल्कि सुरक्षा बलों को निशाना बनाकर किया गया था.

इससे पहले, सन 2000 में आतंकवादियों ने अमरनाथ यात्रा को निशाना बनाया था, जब पहलगाम में लगे आधार शिविर पर किए गए हमले में 30 व्यक्तियों की मौत हो गई थी.

केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने एक वक्तव्य जारी कर कहा कि आतंकवादी हमले की चपेट में आई बस आधिकारिक तौर पर अमरनाथ यात्रा का हिस्सा नहीं थी और अमरनाथ श्राइन बोर्ड द्वारा पंजीकृत नहीं थी.

आज जम्मू बंद

नेशनल कांफ्रेंस, कांग्रेस, विहिप और जेकेएनपीपी सहित कई राजनीतिक दलों ने कश्मीर के अनंतनाग जिले में अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के चलते आज (बुधवार) शहर में बंद का आहवान किया है. विहिप प्रवक्ता राजेश कुमार ने कहा कि हमने अनंतनाग में आतंकी हमले में सात अमरनाथ यात्रियों की मौत के विरोध में बुधवार को जम्मू बंद का आह्वान किया है. कांग्रेस प्रवक्ता रवींद्र शर्मा ने हमले की निंदा करते हुए कहा कि पार्टी बंद का समर्थन करती है. इनके अलावा जेकेएनपीपी और एनसी ने भी बंद का आह्वान किया.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement