NDTV Khabar

अमित शाह के 5 काम, जिसके दम पर BJP दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बनी

राजनीतिक विश्‍लेषक इस वक्‍त बीजेपी के दौर को उसका 'गोल्‍डन पीरियड' कह रहे हैं हालांकि अमित शाह ऐसा नहीं मानते. उनके मुताबिक अभी पार्टी को बहुत आगे जाना है और उसका सर्वश्रेष्‍ठ समय आना अभी बाकी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमित शाह के 5 काम, जिसके दम पर BJP दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बनी

अमित शाह के पार्टी अध्‍यक्ष के रूप में तीन साल पूरे हो गए हैं.(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. अमित शाह ने पार्टी अध्‍यक्ष के रूप में 3 साल पूरे किए
  2. इसी दौरान पहली बार राज्‍यसभा भी पहुंचे हैं शाह
  3. बीजेपी इस वक्‍त 18 राज्‍यों में सत्‍ता में है
बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह के पार्टी अध्‍यक्ष के रूप में बुधवार को तीन साल पूरे हो गए हैं. यह मौका इसलिए भी अहम है क्‍योंकि इसी समय वह गुजरात से पहली बार राज्‍यसभा पहुंचे हैं. दूसरी अहम बात यह है कि अभी दो सप्‍ताह पहले ही बिहार में भी नीतीश कुमार के साथ गठबंधन कर सत्‍ता में पहुंची है. राजनीतिक विश्‍लेषक इस वक्‍त बीजेपी के दौर को उसका 'गोल्‍डन पीरियड' कह रहे हैं हालांकि अमित शाह ऐसा नहीं मानते. उनके मुताबिक अभी पार्टी को बहुत आगे जाना है और उसका सर्वश्रेष्‍ठ समय आना अभी बाकी है. वह उसी लक्ष्‍य के साथ आगे भी बढ़ रहे हैं. इस पृष्‍ठभूमि में आइए जानते हैं कि अमित शाह के हाथ में पार्टी की बागडोर आने के बाद बीजेपी कहां से कहां पहुंची है:

1. कांग्रेस के बाद बीजेपी पहली ऐसी पार्टी बन गई है जिसकी 18 राज्‍यों में सत्‍ता है. इनमें से सात राज्‍य ऐसे हैं जहां पहली बार पार्टी सत्‍ता में आई है. लोकसभा और राज्‍यसभा में पार्टी के सबसे ज्‍यादा सदस्‍य हैं. राज्‍यसभा में पिछले दिनों 58 सदस्‍यों के साथ यह कांग्रेस को पछाड़कर उच्‍च सदन में सबसे बड़ी पार्टी बन गई है.

पढ़ें: गुजरात से पहली बार राज्यसभा पहुंचे अमित शाह, अहमद पटेल और स्मृति ईरानी की सीट बरकरार

2. 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिहाज से इस वक्‍त अमित शाह 110 दिवसीय राष्‍ट्रव्‍यापी दौरा कर रहे हैं. इन तीन वर्षों में अमित शाह ने देश भर में 5,60,000 किमी की यात्रा की है. 303 आउट स्‍टेशन टूर किए हैं. देश के 680 में से 315 जिलों की यात्रा की है.  

पढ़ें:  अहमद पटेल की जीत से इतर पीएम नरेंद्र मोदी ने किया अमित शाह के लिए ट्वीट, जानें क्या कहा

3. अमित शाह ने अध्‍यक्ष बनने के बाद सदस्‍यता अभियान शुरू किया और उसका नतीजा यह हुआ कि 2015 में ही पार्टी के सदस्‍यों की संख्‍या 10 करोड़ से भी पार हो गई. यह पहला प्रयास था जब पार्टी को सीधे जनता के साथ जोड़ने का व्‍यापक स्‍तर पर प्रयास किया गया. इसके चलते बीजेपी दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी बनी. इस अभियान के पहले बीजेपी के 3.5 करोड़ सदस्‍य थे. इसके बावजूद पार्टी ने 2014 के लोकसभा चुनावों में 17.16 करोड़ वोट पाकर अपने बूते पहली बार सत्‍ता में आने का इतिहास रचा.

4. अमित शाह ने पार्टी के परंपरागत वोटबैंक को बढ़ाने के लिए राज्‍यवार सोशल इंजीनियरिंग के नए फॉर्मूले पर जोर दिया. इसका नतीजा यह हुआ कि लोकसभा चुनाव में यूपी में बीजेपी ने 80 में से 71 सीटें जीतीं और राज्‍य में हालिया हुए विधानसभा चुनावों में 403 सीटों में से 312 पर कामयाबी का नया इतिहास रचा. बीजेपी को 2012 के विधानसभा चुनावों में 1.3 करोड़ वोट मिले और अबकी बार 2017 में 3.4 करोड़ मत मिले. वोट बेस में यह बढ़ोतरी बीजेपी की सोशल इंजीनियरिंग की कामयाबी को दर्शाता है.

टिप्पणियां
VIDEO: अहमद पटेल राज्‍यसभा चुनाव जीते


5. 2019 के लिहाज से अमित शाह का इस वक्‍त फोकस उन राज्‍यों में अपनी उपस्थिति को मजबूत करना है जहां फिलहाल बीजेपी कमजोर स्थिति में है. इस लिहाज से पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, तमिलनाडु, केरल, ओडिशा और आंध्र प्रदेश में वह पार्टी की स्थिति को मजबूत करने की कोशिशों में लगे हैं. इन राज्‍यों की कुल 120 लोकसभा सीटें हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement