NDTV Khabar

अमित शाह ने राहुल गांधी पर लगाया आरोप, कहा- समाज में घृणा फैला रहे हैं कांग्रेस अध्यक्ष

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय के हाल के फैसले पर दलित संगठनों का आरोप है कि इस फैसले की मदद से एससी-एसटी कानून को जानबूझकर कमजोर करने की कोशिश की जा रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमित शाह ने राहुल गांधी पर लगाया आरोप, कहा- समाज में घृणा फैला रहे हैं कांग्रेस अध्यक्ष

अमित शाह की फाइल फोटो

खास बातें

  1. अपने औडिशा दौरे के दौरान अमित शाह ने लगाया आरोप
  2. शाह ने कहा जानबूझकर राहुल गांधी कर रहे ऐसा काम
  3. अमित शाह ने राहुल गांधी का वीडियो भी किया ट्वीट
नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर गंभीर आरोप लगाया है. शाह ने कहा कि राहुल गांधी एससी-एसटी एक्ट को खत्म करने के नाम पर समाज में घृणा फैला रहे हैं. उन्होंने राहुल गांधी के ऐसे ही एक भाषणा का वीडियो भी ट्वीट किया है. इस वीडियो में कांग्रेस अध्यक्ष को रैली में यह कहते हुए सुना गया कि देश में दलितों एवं आदिवासियों के खिलाफ अत्याचार बढ़ रहे हैं और एससी-एसटी अत्याचार रोकथाम कानून को समाप्त किया जा रहा है. और पीएम नरेन्द्र मोदी एक शब्द नहीं बोल रहे हैं.

यह भी पढ़ें: ओडिशा में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का आरक्षण पर बड़ा बयान, कहा- हमारी पार्टी...


इस वीडियो के ट्वीट करने के साथ अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी की यह बात सिर्फ झूठ पर आधारित है. गौरतलब है कि अमित शाह ने औडिशा दौरे में एक जनसभा को संबोधितर करते हुए यह बात कही. उन्होंने कहा कि आप देखें कि किस प्रकार से काल्पनिक तौर पर राहुल गांधी ने एससी-एसटी कानून को लेकर समाज में घृणा फैलाने का काम किया है.

यह भी पढ़ें: कर्नाटक में राहुल गांधी और अमित शाह के विमानों की अचानक ली गई तलाशी

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय के हाल के फैसले पर दलित संगठनों का आरोप है कि इस फैसले की मदद से एससी-एसटी कानून को जानबूझकर कमजोर करने की कोशिश की जा रही है. अदालत के फैसले के बाद दो अप्रैल को भारत बंद का भी किया गया था. इस मुद्दे पर विपक्षी दलों ने सरकार को घेरने की कोशिश की थी.

टिप्पणियां
VIDEO: लिंगायत को लेकर अमित शाह ने रखी अपनी बात.


बहरहाल, सरकार ने शीर्ष न्यायालय के फैसले पर पुनर्विचार याचिका दायर की है. जिसपर अगले कुछ दिन में सुनवाई होनी है. वहीं शाह ने आरोप लगाया कि विभिन्न विपक्षी पार्टियां इस संवेदनशील मुद्दे पर राजनीति कर रही है. (इनपुट भाषा से) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement