NDTV Khabar

जय ने जांच की मांग का इंतजार किए बगैर खुद अदालत का दरवाजा खटखटाया है : अमित शाह

शाह ने जय शाह का बचाव करने वाले पीयूष गोयल का भी बचाव किया. उन्होंने सवाल किया, 'पीयूष गोयल भाजपा नेता के रूप में बचाव में आए, न कि एक मंत्री के रूप में.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जय ने जांच की मांग का इंतजार किए बगैर खुद अदालत का दरवाजा खटखटाया है : अमित शाह

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ( फाइल फोटो )

नई दिल्ली:

बीजेपी अध्यक्ष अमितशाह ने कहा है कि उनके बेटे जय शाह ने अपने कारोबार में कुछ भी गलत नहीं किया है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी कारोबार और मुनाफा में अंतर नहीं जानते. शाह ने यहां एक निजी टीवी चैनल के कार्यक्रम में कहा, "जय ने 100 करोड़ रुपये का आपराधिक मानहानि का मामला इसलिए दायर किया है, क्योंकि वह वैध तरीके से कारोबार कर रहे हैं. यह मायने नहीं रखता कि राहुल गांधी क्या कहते हैं. उन्हें तो कारोबार और मुनाफा में अंतर तक नहीं पता है." शाह ने अपने बेटे पर लगे आरोपों को निराधार बताते हुए खारिज कर दिया और कहा कि अदालत जाने का अधिकार हर किसी को है.  जय शाह की कंपनी के कारोबार में कथित तौर पर भाजपा के केंद्र में सत्ता में आने के बाद अभूतपूर्व वृद्धि हुई.

शंकर सिंह वाघेला ने जय शाह के कारोबारी सौदों की जांच की मांग की


टिप्पणियां

उन्होंने कहा, "जय ने जांच की मांग का इंतजार किए बगैर खुद अदालत का दरवाजा खटखटाया है." शाह ने कहा, "मेरा बेटा उपभोक्ता वस्तुओं का कारोबार करता है और उसमें घाटा हो सकता है. राहुल गांधी लेटर ऑफ क्रेडिट और ऋण के बीच अंतर नहीं जानते. जय को ऋण नहीं दिया गया था, बल्कि लेटर ऑफ क्रेडिट दिया गया था. उसने सरकार के साथ कोई कारोबार नहीं किया और सरकार से कोई जमीन नहीं ली और ठेकेदारों से उसका कोई संबंध नहीं है."

वीडियो : कांग्रेस ने की जय शाह के कारोबार की जांच की मांग
शाह ने जय शाह का बचाव करने वाले पीयूष गोयल का भी बचाव किया. उन्होंने सवाल किया, 'पीयूष गोयल भाजपा नेता के रूप में बचाव में आए, न कि एक मंत्री के रूप में और यदि उन्होंने बचाव किया तो कौन सा अपराध कर दिया. क्या हमें अपना पक्ष रखने का अधिकार नहीं है. गलत क्या है?'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement