NDTV Khabar

बीजेपी का मिशन केरल, अमित शाह ने राजराजेश्वर मंदिर में पूजा-अर्चना की

इधर, राज्य के मुख्यमंत्री पी विजयन ने भी मोर्चा खोल दिया है. उन्होंने कहा है कि केन्द्र सरकार के बड़े मंत्री और आरएसएस से जुड़े लोग केरल की छवि को खराब करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसका विरोध होना चाहिए.

1.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी का मिशन केरल, अमित शाह ने राजराजेश्वर मंदिर में पूजा-अर्चना की

केरल के मंदिर में पूजा करते अमित शाह...

खास बातें

  1. केरल के 15 दिन के दौरे पर हैं अमित शाह
  2. राजराजेश्वर मंदिर में आज पूजा-अर्चना की
  3. केरल में बीजेपी को मजबूत करने का काम करेंगे
कन्नूर: बीजेपी ने आज से अपने मिशन केरल की जोर-शोर से शुरुआत कर दी है. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह आज से अपनी 15 दिन की केरल यात्रा की शुरुआत कर दी है. इधर, राज्य के मुख्यमंत्री पी विजयन ने भी मोर्चा खोल दिया है. उन्होंने कहा है कि केन्द्र सरकार के बड़े मंत्री और आरएसएस से जुड़े लोग केरल की छवि को खराब करने की कोशिश कर रहे हैं, जिसका विरोध होना चाहिए.

'पहले इटली का चश्मा तो उतारिए', अमित शाह ने राहुल गांधी पर कसा तंज

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कन्नूर जिले के तालीपरम्बा में प्रसिद्ध राजराजेश्वर मंदिर में आज पूजा-अर्चना की. शाह जिले के पय्यान्नूर में भाजपा की जनरक्षा यात्रा का शुभारंभ करने के लिए यहां आए हैं. पार्टी के प्रदेश मीडिया विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि वरिष्ठ भाजपा नेता आज सुबह मंगलूर हवाईअड्डे पहुंचे और बाकेल से सड़क मार्ग के जरिए मंदिर पहुंचे. उनके साथ प्रदेश भाजपा नेता भी मौजूद रहे. मंदिर प्रशासन ने शाह का स्वागत किया. भाजपा अध्यक्ष ने मंदिर में 30 मिनट बिताए और उन्होंने भगवान को स्वर्ण कलश चढ़ाया. तालीपरम्बा में स्थित राजराजेश्वर मंदिर उत्तर मालाबार का प्रसिद्ध शिव मंदिर है. पूजा अर्चना करने के बाद शाह राज्य में 15 दिवसीय रैली का शुभारंभ करने के लिए पय्यान्नूर गए. भाजपा और संघ परिवार के कार्यकर्ताओं के खिलाफ वाम दल के कथित ‘लाल आतंकवाद’ के विरोध में यह रैली निकाली जा रही है.

कांग्रेस की तीन पीढ़ियों ने गुजरात को अपमानित किया : अमित शाह

टिप्पणियां
पय्यानूर से शुरू होकर जन रक्षा यात्रा (लोगों की सुरक्षा रैली) 17 अक्तूबर को तिरुवनंतपुरम में समाप्त होने से पहले राज्य से गुजरेगी. कई केंद्रीय मंत्री ‘सभी को जीने का हक!! जिहादी-लाल आतंक के खिलाफ’ थीम के तहत रैली में भाग लेंगे.
वर्ष 2001 के बाद से राज्य में 120 भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की जा चुकी है जिनमें से 84 केवल कन्नूर में ही मारे गए. इनमें से 14 की मुख्यमंत्री के गृहनगर में ही हत्या की गई. दूसरी ओर माकपा ने भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर हिंसा करने का आरोप लगाया और राजनीतिक हत्याओं में अपनी सरकार तथा नेतृत्व की संलिप्तता से इनकार किया है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement