कोलकाता: अमित शाह ने ममता बनर्जी को दी चुनौती, इंतजार करिए! 2021 के चुनाव में पूर्ण बहुमत से बंगाल में जीतेंगे

गृह मंत्री ने कहा कि बीजेपी आज अपना चुनाव अभियान शुरू कर रही है. यह अभियान बंगाल में अत्याचार करने वाली ताकतों को हराने के लिए है.

कोलकाता: अमित शाह ने ममता बनर्जी को दी चुनौती, इंतजार करिए! 2021 के चुनाव में पूर्ण बहुमत से बंगाल में जीतेंगे

गृह मंत्री अमित शाह ने जनसभा को संबोधित किया

कोलकाता :

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कोलकाता के शहीद मैदान में चुनावी अभियान शुरू करते हुए जनसभा को संबोधित किया. उन्होंने राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि जब हम बंगाल में चुनावी मैदान में उतरे थे तो ममता दीदी कहती थीं जमानत बचा लेना. ममता जी ये आंकड़े देख लीजिए, अब आने वाले विधानसभा चुनाव में भी पूर्ण बहुमत के साथ भाजपा की सरकार बंगाल में बनने वाली है. बीजेपी को बंगाल में 2014 में 87 लाख वोट मिले थे. 2019 में जनता का प्यार बढ़ा और पीएम मोदी के नेतृत्व में हमें 2.3 करोड़ वोट मिले. शाह ने आगामी विधानसभा चुनाव में दो-तिहाई बहुमत मिलने का दावा किया है.  

उन्होंने कहा, "ममता दी, बस इंतजार कीजिए, 2021 के चुनाव में हम स्पष्ट बहुमत के साथ जीतेंगे. मुझे लगता है कि अभी सफर शुरू हुआ है. यह सफर तब खत्म होगा जब विधानसभा चुनावों के बाद हम दो-तिहाई बहुमत के साथ सरकार बनाएंगे. हमें राजनीतिक रैलियों की अनुमति नहीं दी गई. हमारे 40 से अधिक कार्यकर्ता मारे गए. मैं सीएम ममता दी से पूछना चाहता हूं कि क्या आप ऐसा करके हमें रोक पाए. आप जो चाहे कर लो. बंगाल की जनता आपका असली चेहरा पहचान चुकी है. 

अमित शाह बोले- देश को तोड़ने वालों के अंदर होना चाहिए NSG का डर, जवानों को नुकसान पहुंचाने पर चुकानी होगी भारी कीमत

गृह मंत्री ने कहा कि बीजेपी आज अपना चुनाव अभियान शुरू कर रही है. यह अभियान बंगाल में अत्याचार करने वाली ताकतों को हराने के लिए है. उन्होंने कहा, "बंगाल पर 3.75 लाख करोड़ रुपये का कर्ज है. वामदल की सरकार में यह कर्ज 1.92 लाख करोड़ रुपये था. ममता दी ने इसे और बढ़ा दिया है. राज्य में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश दो प्रतिशत से भी नीचे है." 

अमित शाह के कोलकाता दौरे के विरोध में लेफ्ट पार्टियों और छात्र संगठनों ने एयरपोर्ट के बाहर किया प्रदर्शन

सीएए के मुद्दे पर शाह ने सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि ममता दी जब विपक्ष में थी तो उन्होंने खुद शरणार्थियों के नागरिकता का मुद्दा उठाया था. जब पीएम मोदी नागरिकता संशोधन कानून को लेकर आए तो वह (ममता) कांग्रेस और वामदलों के साथ खड़ी हो गईं. ये लोग अल्पसंख्यकों को डरा रहे हैं कि उनकी नागरिकता छीन ली जाएगी. मैं अल्पसंख्यक समुदाय के हर शख्स को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि सीएए नागरिकता देने का कानून है. इससे आप पर किसी भी तरह से असर नहीं होगा. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो: अमित शाह के कोलकाता दौरे का विरोध कर रही हैं लेफ्ट पार्टियां और छात्र संगठन