NDTV Khabar

यूपीए सरकार के समय भी पेट्रोल-डीजल की यही कीमतें थीं, वे तीन दिन में ही परेशान हो गये : अमित शाह

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि 2014 से पहले देश के हालात ऐसे थे कि अधिकांश जनता लोकतांत्रिक सिस्टम से भरोसा खो चुकी थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपीए सरकार के समय भी पेट्रोल-डीजल की यही कीमतें थीं, वे तीन दिन में ही परेशान हो गये : अमित शाह

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. अमित शाह ने कहा- अब विकास बनता है अखबारों की सुर्खियां
  2. मोदी सरकार ने दुनियां में भारत का नाम बढ़ाया
  3. सरकार ने हर तबके के लिए काम किया
नई दिल्ली: भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार के 4 वर्ष पूरे होने पर शनिवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस वार्ता में सरकार की उपलब्धियां और प्राथमिकताएं गिनाईं. शाह ने कहा कि आज जो पेट्रोल और डीजल की कीमतें तीन साल पहले जब यूपीए की सरकार थी तो भी यही थी. लेकिन अब वे (विपक्ष) तीन दिनों में ही परेशान हो गये हैं. हमारी सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर एक दीर्घकालिक योजना पर काम कर रही है. उन्होंने कहा कि 2014 से पहले देश के हालात ऐसे थे कि अधिकांश जनता लोकतांत्रिक सिस्टम से भरोसा खो चुकी थी. उसी समय अंधेरी रात में नरेंद्र मोदी सरकार का आना हुआ. जब नरेंद्र मोदी को नेता चुना गया तो उन्होंने दो बातों पर जोर दिया था. मैं उन दोनों बातों का जिक्र करना चाहूंगा.  उन्होंने किसान, दलित, गांव को समर्पित सरकार की बात कही थी. साथ ही कहा था कि दुनिया में देश के गौरव को बढ़ाने का काम करेंगे. दोनों वादों पर खरे उतरे हैं. 4 साल में अपना वादा पूरा किया है. मोदी जी के नेतृत्व में देश को भ्रष्टाचार विहीन सरकार मिली है. संवेदनशील सरकार दी है.

यह भी पढ़ें : मोदी सरकार के चार साल LIVE: अमित शाह बोले- हमने भ्रष्टाचार विहिन सरकार दी है, 2022 तक सबको घर

उन्होंने कहा कि हमनें गांव-किसानों का हित देखने वाली सरकार दी है. उन्होंने कहा कि सरकार बनने के बाद कई प्रकार के द्वंद खड़े हुए, लेकिन हमने दिखाया कि ग्रामीण विकास के साथ शहरों का भी विकास जा सकता है. द्वंद को समाप्त किया. सरकार अधिकारी चलाएंगे या नेता चलाएंगे, इस द्वंद को भी खत्म किया. भाजपा ने मोदी के रूप में 15-18 घंटे वाला काम करने वाला पीएम दिया है. साथ ही विश्व में सबसे लोकप्रिय नेता देने का काम भी किया है. देश की राजनीति 60 के दशक से परिवारवाद-जातिवाद में फंसी थी. नरेंद्र मोदी सरकार ने इस राजनीति को बदला. यह बहुत बड़ा योगदान है. 

यह भी पढ़ें : NEWS FLASH: मोदी सरकार के 4 साल पूरे होने पर अमित शाह की प्रेस कॉन्फ्रेंस- गरीब, किसानों के दर्द समझने वाली सरकार है

अमित शाह ने कहा कि कभी घोटाले अखबारों के टाइटल बनते थे, आज विकास टाइटल बनते हैं. हमनें सबका साथ-सबका विकास की संकल्पना को साकार किया है. आज 70 प्रतिशत भू-भाग पर एनडीए और भाजपा का शासन है. 65 फीसद आबादी पर हमारी सरकार है. अन्य राज्यों के स्थानीय निकाय चुनावों में अच्छी सफलता हासिल की है. देश में कोई ऐसा गांव नहीं है जहां बिजली न हो. 2022 तक हर व्यक्ति को अपना घर देने का लक्ष्य देने का लक्ष्य रखा. स्वरोजगार के आयाम से सभी को परिचित कराया है. मुद्रा बैंक से 9 करोड़ युवाओं को रोजगार देने का काम किया है. लाखों-करोड़ों के इंफ्रास्ट्रक्चर का काम किया है. किसानों को राहत दी. उड़ान योजना के माध्यम से गरीबों के लिए हवाई जहाज की सुविधा की योजना बनाई है. ग्राम स्वराज के तहत गांव चयनित किये थे. उनका सर्वांगीण विकास किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें : अमित शाह ने स्वीकारा, सपा-बसपा गठबंधन 2019 में भाजपा के लिए चुनौती होगा

टिप्पणियां
अमित शाह ने कहा कि हम एक-एक गांव को समस्या से मुक्त करने की दिशा में काम कर रहे हैं. हेल्थ बीमा देकर सुविधा दी है सरकार है. उन्होंने कहा कि सरकार ने काले धन पर एसआईटी बनाने के साथ-साथ काले धन का रास्ता बंद किया. वन रैंक वन पेंशन की समस्या को समाप्त किया. जवानों को सम्मान देने का काम किया.नोटबंदी और जीएसटी ऐसे फैसले हैं जो लंबे समय तक जाने जाएंगे. स्वाइल हेल्थ कार्ड, मंडियों को ऑनलाइन करने का काम किया गया है. सबसे तेज बढ़ने वाली अर्थव्य़वस्था में भारत शुमार हो चुका है. पॉलिसी पैरालिसिस को दूर कर आगे बढ़े हैं. अमित शाह ने कहा कि भले ही टीडीपी ने साथ छोड़ा हो, लेकिन नीतीश जी साथ आये. 2014 के बाद 11 अन्य दल भी एनडीए का हिस्सा बने हैं.हम चाहते हैं कि बीजेपी-शिवसेना 2019 का चुनाव साथ लड़ें.  

यह भी पढ़ें : लगातार 11वें दिन भी बढ़े तेल के दाम, अमित शाह के कहने पर भी नहीं चेती सरकार


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement