जनता को बोलने वाला पीएम चाहिए था, PM मोदी चलते नहीं, सीधे छलांग लगाते हैं : नए पार्षदों से अमित शाह

खास बातें

  • एमसीडी चुनाव की जीत अंतिम नहीं
  • यह दिल्ली में सरकार बनाने की पहल
  • जनता की अपेक्षाओं को पूरा करना है
नई दिल्ली:

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली एमसीडी चुनाव में पार्टी की जीत पर जीतने वालों को बधाई दी. साथ ही उन लोगों को भी बधाई दी जो चुनाव नहीं लड़े, जिन पार्षदों ने पार्टी के निर्णय को स्वीकार किया और कार्यकर्ता के रूप में काम किया. अमित शाह ने कहा कि एमसीडी चुनाव की जीत अंतिम नहीं है. यह दिल्ली में सरकार बनाने की पहल है. एमसीडी को अपने काम से दिल्ली में जगह बनानी है. जनता ने जो हम पर विश्वास रखा है, हमें उनकी अपेक्षाओं को पूरा करना है. जनता के विश्वास को जीतने के लिए हमें विनम्र बनना है. 

बीजेपी और पीएम मोदी पर जनता का भरोसा
अमित शाह ने कहा कि 2014 से जनता बीजेपी और पीएम नरेंद्र मोदी पर आंख मूंदकर भरोसा कर रही है. शाह ने कहा कि उन्होंने कई सभाएं की, कोई कुछ नहीं पूछता, हमने सभाओं में अपनी ओर से ही लोगों को बातें समझाईं, लोग भरोसा कर रहे हैं मोदी पर. सभी मोदी-मोदी के नारे लगा रहे थे. उन्होंने उसी तरह वोट भी दिए. 

जनता को बोलने वाला पीएम चाहिए था
अमित शाह ने कहा- जनता को बोलने वाला प्रधानमंत्री चाहिए था. वह सिर्फ प्रधानमंत्री को सुनना चाह रहे थे. कोई अपेक्षा नहीं थी, लेकिन पीएम ने 20-20 घंटे काम करके देश को ऊपर उठाया. पीएम मोदी चलते-दौड़ते नहीं सीधे छलांग लगाकर गंतव्य की ओर बढ़ते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

गरीबों को समर्पित है सरकार
पीएम नरेंद्र मोदी ने सरकार बनते ही कहा था कि यह सरकार गरीबों को समर्पित है, बेरोजगारों को समर्पित है, किसानों को समर्पित है. देश का मान बढ़ाने के लिए उन्होंने वादा किया. अमित शाह ने कहा कि आज तीन साल बाद पीएम मोदी ने हर मुद्दे पर कुछ न कुछ किया है और उनके समाधान की दिशा में काम किया है. दुनियाभर के आर्थिक पंडित मानते हैं कि भारत की अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ रही है. 

मोदी सरकार ने किसानों, गरीबों की समस्याएं दूर करने के लिए काम किए
अमित शाह ने कहा कि किसानों की समस्या दूर करने के लिए पीएम मोदी ने कई कदम उठाए हैं. युवाओं और बेरोजगारों को काम देने के लिए नई योजनाएं शुरू की. महिलाओं के उत्थान के लिए काम किया. शौचालय बनवाने का काम किया. 7 करोड़ से ज्यादा घरों में शौचालयों का निर्माण हो चुका है. यह एक प्रकार का सोशल एंपावरमेंट किया गया है. मोदी सरकार ने स्टैंडअप, स्टार्टअप, स्किल इंडिया के जरिए कई काम किए. गरीब महिलाओं के घर में गैस पहुंचाकर उनका जीवनस्तर उठाने का काम किया है.