NDTV Khabar

बाबा रामदेव के गुरुकुल का आज अमित शाह करेंगे उद्घाटन, बढ़ती दूरियां घटने के संकेत

बाबा रामदेव और बीजेपी के बीच बढ़ती दूरियों की अटकलों के बीच शाह का बाबा रामदेव के कार्यक्रम में जाना राजनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बाबा रामदेव के गुरुकुल का आज अमित शाह करेंगे उद्घाटन, बढ़ती दूरियां घटने के संकेत

पतंजलि का गुरुकुल आचार्यकुलम.

खास बातें

  1. रामदेव ने कहा था लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए प्रचार नहीं करेंगे
  2. कहा था यदि महंगाई कम नहीं की तो ये आग मोदी जी को ले डूबेगी
  3. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का कुल मिलाकर दो दिन का प्रोग्राम
नई दिल्ली:

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह गुरुवार को हरिद्वार में बाबा रामदेव के गुरुकुल 'आचार्यकुलम' के नए परिसर का उद्घाटन करेंगे. वैसे तो इस कार्यक्रम में अमित शाह के अलावा  RSS के सह संघचालक भैया जी जोशी  और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री  त्रिवेंद्र सिंह रावत भी मौजूद रहेंगे लेकिन बाबा रामदेव और देश की सत्ता में बैठी बीजेपी के बीच बढ़ती दूरियों की अटकलों के बीच अमित शाह  का बाबा रामदेव के कार्यक्रम में जाना राजनीतिक दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

अहम बात ये भी है कि अमित शाह रामदेव के यहां कोई एक उद्घाटन कार्यक्रम करके नहीं आने वाले बल्कि उसके बाद एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे, पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट और मौजूदा आचार्यकुलम का भ्रमण करेंगे. इसके बाद अगले दिन वहीं हवन और यज्ञ करेंगे, फिर पतंजलि फ़ूड पार्क, योग ग्राम और गोशाला का भ्रमण करेंगे और फिर दिल्ली लौटेंगे. कुल मिलाकर दो दिन का प्रोग्राम बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बाबा रामदेव के साम्राज्य को देखने के लिए बनाया है.

क्या कहा था बाबा रामदेव ने NDTV युवा में?
16 सितंबर को स्वामी रामदेव ने एनडीटीवी के कार्यक्रम NDTV युवा में कहा था कि वह 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के लिए प्रचार नहीं करेंगे. उनका कहना था कि मैंने खुद को राजनीति से दूर कर लिया है. यही नहीं महंगाई के सवाल पर बाबा रामदेव ने कहा था 'मैं या आप कहें या ना कहें पर मोदी सरकार को ये महंगाई कम करनी होगी. अगर ये महंगाई कम नहीं की तो ये आग उन्‍हें ले डूबेगी.'


यह भी पढ़ें : NDTV युवा कॉन्क्लेव : बाबा रामदेव क्या 2019 में बीजेपी के लिए कैंपेनिंग करेंगे, दिया ये जवाब

बीते काफी समय से स्वामी रामदेव जब भी किसी कार्यक्रम में जाते हैं तो उनसे पूछा जाता है कि आपने काला धन के मुद्दे पर कांग्रेस के खिलाफ आंदोलन किया था और नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाने का समर्थन किया था और चुनाव में प्रचार किया था. ऐसे में जब विदेशों में जमा काला धन साढ़े चार बाद साल भी वापस नहीं आया है तो क्या अब वह मोदी सरकार के ख़िलाफ़ भी आंदोलन करेंगे?.पिछले कुछ समय से बाबा रामदेव बीजेपी के पक्ष में बोलने से बच रहे हैं ऐसे में अटकलें लग रही हैं कि क्या बाबा रामदेव ने बीजेपी से दूरी बना ली है?

 
ptbhi9jc

क्या है आचार्यकुलम
साल 2013 में शुरू हुआ बाबा रामदेव का गुरुकुल आचार्यकुलम आधुनिक शिक्षा और वैदिक शिक्षा देकर बच्चे को श्रेष्ठ विश्व नागरिक बनाने का दावा करता है. लगभग 5 साल पहले अप्रैल 2013 में नरेंद्र मोदी ने आचार्यकुलम का उद्घाटन किया था.
टिप्पणियां

VIDEO : मोदी सरकार को महंगी पड़ेगी महंगाई

बाबा रामदेव का दावा है कि वेद पढ़ते हुए आचार्यकुलम के अधिकतर विद्यार्थियों ने इस साल सीबीएसई की दसवीं की परीक्षा में 99% से अधिक अंक प्राप्त किए हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement