अमृतसर हादसा : नवजोत कौर ने घटनास्थल से चले जाने के आरोप को गलत ठहराया

रावण दहन कार्यक्रम की मुख्य अतिथि नवजोत कौर ने कहा कि त्रासदीपूर्ण घटना को लेकर राजनीति की जाना शर्मनाक है

अमृतसर हादसा : नवजोत कौर ने घटनास्थल से चले जाने के आरोप को गलत ठहराया

नवजोत कौर सिद्धू ने उन पर लगाए गए आरोपों को गलत ठहराया है.

खास बातें

  • रेलवे लाइन के किनारे हुए रावण दहन कार्यक्रम में मौजूद थीं नवजोत कौर
  • प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कांग्रेस ने यह कार्यक्रम आयोजित किया था
  • सिद्धू की पत्नी ने कहा कि वे मदद के लिए अस्पताल पहुंचीं थीं
अमृतसर:

पंजाब कांग्रेस की नेता नवजोत कौर सिद्धू ने इस आरोप से इनकार किया है कि वे अमृतसर में रेल लाइन पर हुए हादसे के बाद घटनास्थल से चली गई थीं. गुरुवार की शाम को रावण दहन के दौरान हुई इस दुर्घटना में 60 लोगों की मौत हो गई.

रावण दहन कार्यक्रम की मुख्य अतिथि नवजोत कौर ने कहा कि इस त्रासदीपूर्ण घटना को लेकर राजनीति की जाना शर्मनाक है. उन्होंने कहा कि  "मैंने घर लौटने के बाद ही मौतों के बारे में सुना. मैंने पुलिस आयुक्त को फोन किया और पूछा कि क्या मुझे वापस आना चाहिए? लेकिन उन्होंने कहा कि वहां बहुत अराजक माहौल है. इसलिए मैंने फैसला किया कि मुझे कम से कम उन लोगों को बचाना चाहिए जो घायल हो गए हैं और उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है.''

रेलवे ने अमृतसर हादसे के लिए स्थानीय प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया

घटना के एक प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक यह आयोजन प्रशासन से इजाजत के बिना किया गया. उन्होंने कहा कि जब दुर्घटना हो गई तो पंजब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर घटनास्थल से चली गईं. उन्होंने हम लोगों के प्रति बहुत बुरा रुख अपनाया. एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने इस कार्यक्रम के आयोजकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. उन्होंने कहा कि यह शर्मनाक है कि जो लोग दशहरा को खुशी मनाने के लिए आए थे उन्हें भारी दुख का सामना करना पड़ा, अपने प्रियजनों को खोना पड़ा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : लोगों को इस तरह कुचल दिया ट्रेन ने

स्थानीय मीडिया ने आयोजक के रूप में मिठू मदान नामक व्यक्ति की पहचान की है जो कि कांग्रेस पार्टी का है और स्थानीय पार्षद है.