आंध्रप्रदेश गैस लीक हादसा: 5000-5000 टन के दो टैंकों से हुआ था रिसाव, 8 खास बातें..

घटना को जो विजअल्‍स सामने आए है, उसमें कैमिकल प्‍लांट के नजदीक एक सड़क पर बड़ी संख्‍या में लोग घायलों की मदद करते और उन्हें एम्बुलेंस में ले जाने की कोशिश करते नजर आ रहे हैं. बैकग्राउंड में सायरन की आवाज सुनाई दे रहे हैं. मॉस्‍क लगाए हुए लोग, उनकी मदद कर रहे है जिन्‍हें सांस लेने में कठिनाई हो रही है.

आंध्रप्रदेश गैस लीक हादसा: 5000-5000 टन के दो टैंकों से हुआ था रिसाव, 8 खास बातें..

विशाखापट्टनम में जहरीली गैस लीक होने से दहशत व्‍याप्‍त हो गई

विशाखापट्टनम:

कोरोना वायरस की देशव्‍यापी महामारी के बीच आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम में एक मल्‍टीनेशनल कंपनी के कैमिकल प्‍लॉट में जहरीली गैस के रिसाव से जहां 7 लोगों की मौत हो गई, वहीं 200 से अधिक लोगों को अस्‍पताल में भर्ती कराना पड़ा. मृतकों में एक बच्‍चा भी शामिल है. जिले के गांव आरआर वेंकटपुरम में एलजी पॉलिमर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के कैमिकल गैस प्‍लांट में रिसाव होने के बाद आसपास के लोगों को आंखों में जलन और सांस लेने में कठिनाई होने लगी, इसके क्षेत्र में दहशत का माहौल बन गया. घटना की जानकारी मिलते ही एंबुलेंस, दमकल और पुलिसकर्मी केमिकल प्लांट में मौके पर पहुंच गए. मामले से जुड़ी खास बातें...

1. एलजी पॉलिमर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के कैमिकल गैस प्‍लांट में रिसाव हुआ. एलजी पॉलीमर इंडस्‍ट्री का यह गैस प्‍लांट विशाखापट्टनम के आरआर वेंकटपुरम विलेज में है. लोगों ने आंखों में जलन और सांस लेने में तकलीफ होने की शिकायत की. घटना की जानकारी मिलते ही एंबुलेंस, दमकल और पुलिसकर्मी केमिकल प्लांट में मौके पर पहुंच गए.

2. विशाखापट्टनम की पुलिस अधिकारी स्‍वरूप रानी ने बताया, 'हम फिलहाल पांच लोगों को मौत की पुष्टि कर सकते हैं. करीब 70 लोगों को अर्धचेतन (unconscious) अवस्‍था में नजदीक के अस्‍पताल में ले जाया गया है. 200 से 500 लोगों का अस्‍पतालों में इलाज किया जा रहा है.' रिपोर्टों के अनुसार गैस लीक हादसे में मृतकों की संख्‍या बढ़कर सात पहुंच गई है.

3. उन्‍होंने बताया कि एलजी पॉलीमर के दो पांच-पांच हजार टन के टैंक में गैस का रिसाव हुआ. कोरोना वायरस के कारण देश में भर में मार्च के आखिरी सप्‍ताह के जारी लॉकडाउन के चलते इन टैंक की देखरेख के लिए कोई मौजूद नहीं थी.

4. ग्रेटर विशाखापट्टनम म्‍युनिसिपल कार्पोरेशन की ओर से ट्वीट करके गैस रिसाव की जानकारी दी गई थी. इसमें कहा गया था- गोपालपटनम एलजी पॉलीमर के प्‍लांट में गैस लीक हुई है. हम इन स्‍थान के आसपास के लोगों से आग्रह करते हैं कि सुरक्षा ऐहतियात बरतते हुए घर से बाहर नहीं निकलें.

5. घटना को जो विजअल्‍स सामने आए है, उसमें कैमिकल प्‍लांट के नजदीक एक सड़क पर बड़ी संख्‍या में लोग घायलों की मदद करते और उन्हें एम्बुलेंस में ले जाने की कोशिश करते नजर आ रहे हैं. बैकग्राउंड में सायरन की आवाज सुनाई दे रहे हैं. मॉस्‍क लगाए हुए लोग, उनकी मदद कर रहे है जिन्‍हें सांस लेने में कठिनाई हो रही है.एंबुलेंस के आने के पहले सड़क के डिवाइडर पर लोग बैठे हुए भी देखे जा सकते हैं. 

6. 1961 में हिंदुस्तान पॉलिमर के रूप में स्थापित इस कंपनी को दक्षिण कोरिया के एलजी केम (LG Chem) अधिग्रहित किया था और 1997 में उसे एलजी पॉलिमर इंडिया के रूप में नाम दिया गया. यह प्लांट पॉलीस्टाइरिन और एक्सपेंडबल पॉलीस्टायर्न बनाता है जिसका उपयोग टॉयज आदि बनाने में किया जाता है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

7. मोबाइल पर बनाए गए वीडियो में करीब 10 लोगों को जमीन पर लेटे हुए देखा जा सकता है. ये अर्धचेतन अवस्‍था में हैं. गैस लीक के कारण एरिये में काफी देर तक अफरातफरी की स्थिति रही.

8. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट करके विशाखापट्टनम गैस लीक हादसे को लेकर ट्वीट में कहा, 'विशाखापट्टनम की स्थिति को लेकर गृह मामलों के मंत्रालय और NDMA के अधिकारियों से बात हुई है. स्थिति पर नजर रखी जा रही है. मैं हर किसी के सुरक्षित और स्‍वस्‍थ होने की ईश्‍वर से प्रार्थना करता हूं.'