16 साल की लड़की को कमरे में बंद कर 5 दिन तक रेप करते रहे 6 युवक, फिर ऐसे बचकर निकली

आंध्रप्रदेश के ओंगोल शहर में एक 16 साल की लड़की को कमरे में बंद करके छह युवकों ने उसके साथ पांच दिन तक रेप किया. आरोपियों में तीन किशोर भी शामिल हैं.

16 साल की लड़की को कमरे में बंद कर 5 दिन तक रेप करते रहे 6 युवक, फिर ऐसे बचकर निकली

प्रतीकात्मक तस्वीर

आंध्रप्रदेश के ओंगोल शहर में एक 16 साल की लड़की को कमरे में बंद करके छह युवकों ने उसके साथ पांच दिन तक रेप किया. आरोपियों में तीन किशोर भी शामिल हैं. पुलिस ने बताया कि सभी आरोपियों को प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों से गिरफ्तार कर लिया गया है और इस मामले में आगे की जांच की जा रही है. प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर उठ रहे सवालों के बाद राज्य की गृहमंत्री सुचरिता ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कदम उठाने का वादा किया है. 17 जून को लड़की ओंगोल में आरटीसी बस स्टेशन पर एक आरोपी से मिली थी. यह जगह अमरावती से करीब 140 किलोमीटर दूर है. दोनों में दोस्ती हो गई और इसके बाद लड़का उसे अपने कमरे पर ले गया, जहां उसने अपने पांच दोस्तों के साथ मिलकर उसके साथ पांच दिन तक रेप किया. यह जानकारी सीनियर पुलिस अधिकारी सिद्धार्थ कौशल ने मीडिया से बात करते हुए दी.

दो भाई काम ढूंढने आई लड़की से 4 दिन तक करते रहे रेप, पुलिस ने किया गिरफ्तार

शनिवार को लड़की वहां से निकलकर बस स्टेशन तक पहुंचने कामयाब रही, तभी वहां पर एक होमगार्ड और एएसआई उसे बचाकर ले आए. उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी स्थिति स्थिर बताई गई है. लड़की की शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपियों की तलाशी शुरू कर दी और राज्य के अलग-अलग हिस्सों से उन्हें गिरफ्तार कर लिया. एक आरोपी को नेल्लोर जिले के बितरगुंटा से उस वक्त गिरफ्तार किया गया, जब ट्रेन पकड़ने की कोशिश कर रहा था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पार्किंग में भी पहुंच गया प्लेन और सोती रही महिला, जब उठी तो चारों तरफ था घुप अंधेरा

इसकी निंदा करते हुए आंध प्रदेश के डीजीपी गौतम सवांग ने कहा कि महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा और उनके खिलाफ अपराध की रोकथाम को उच्च प्राथमिकता दी जाएगी. उन्होंने कहा कि ऐसे अपराधों को अंजाम देने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा. सवांग ने प्रकाशम जिले के पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया कि इस मामले की पूरी तरह से जांच की जाए ताकि उन्हें दोषियों को सजा मिल सके. आरोपियों के खिलाफ पोस्को और आईपीसी की कई धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. (इनपुट: भाषा)