भारत माता की जयकार करने से नाराज अलगाववादियों ने फारूक अब्दुल्ला से नमाज के दौरान की बदसलूकी

ईद उल जुहा की नमाज के दौरान हजरतबल दरगाह में लोगों के एक समूह ने ‘फारूक अब्दुल्ला वापस जाओ’ और ‘हम क्या चाहते, आजादी’ के नारे लगाए

भारत माता की जयकार करने से नाराज अलगाववादियों ने फारूक अब्दुल्ला से नमाज के दौरान की बदसलूकी

नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला को ईद उल जुहा की नमाज के दौरान अलगाववादियों ने परेशान किया.

खास बातें

  • फारूक ने विरोध प्रदर्शन के बावजूद नमाज जारी रखी
  • कहा- वे गुमराह लोग हैं, उनके नेता होने के कर्तव्यों से मैं बच नहीं सकता
  • फारूक ने अटल जी के लिए एक प्रार्थना सभा के दौरान भारत माता की जयकार की थी
श्रीनगर:

जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी लोगों ने ईद उल जुहा की नमाज के दौरान नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला को नारेबाजी करके परेशान करने की कोशिश की. हालांकि फारूक ने इस विरोध प्रदर्शन के बावजूद नमाज जारी रखी. उन्होंने बाद में विरोध जताने वालों को गुमराह लोग बताया.

पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला आज 17 वीं सदी की हजरतबल दरगाह में ईद उल जुहा की नमाज के लिए पहुंचे. नमाज के दौरान कुछ लोगों ने परेशान किया. दरअसल, दो दिन पहले ही उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के लिए एक प्रार्थना सभा के दौरान ‘‘भारत माता की जय’’ के नारे लगाए थे.

नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता ने परेशान किए जाने के बावजूद अपनी नमाज जारी रखते हुए कहा कि हमारे ही गुमराह लोग ताने मार रहे और उपहास उड़ा रहे हैं. हजरतबल दरगाह में मौजूद लोगों के एक समूह से कुछ लोगों ने ‘‘फारूक अब्दुल्ला वापस जाओ’’ और ‘‘हम क्या चाहते, आजादी’’ के नारे लगाए.

यह भी पढ़ें : फ़ारूक अब्दुल्ला ने पीओके पर फिर दिया विवादित बयान, मच गया कोहराम

नारेबाजी कर रहे युवाओं के एक धड़े ने जब अब्दुल्ला के पास जाने की कोशिश की, तब कुछ लोगों ने मानव श्रृंखला बनाकर उन्हें ऐसा करने से रोका. उस वक्त अब्दुल्ला अपने खराब स्वास्थ्य के चलते प्रथम पंक्ति में एक कुर्सी पर बैठे हुए थे. सुरक्षा बलों ने भी श्रीनगर से लोकसभा सदस्य की सुरक्षा के लिए एक घेरा बनाया.

फारुक अब्दुल्ला ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा- 'मैं डरने वाला नही हूं. अगर यह समझते हैं कि ऐसे आजादी आएगी तो मैं इनको कहना चाहता हूं कि पहले बेगारी, बीमारी और भुखमरी से आजादी पाओ.'


अब्दुल्ला ने अपने आवास पर लोगों की अगवानी करते हुए कहा, ‘‘मैं आयोजन स्थल से नहीं हटा और नमाज पूरी की. वे लोग मेरे अपने लोग हैं. वे गुमराह लोग हैं और उनके नेता होने के अपने कर्तव्यों से मैं बच नहीं सकता.’’

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: जम्‍मू-कश्‍मीर के पूर्व मुख्‍यमंत्री फारूक अब्‍दुल्‍ला के साथ नमाज़ के दौरान बदसलूकी

(इनपुट भाषा से)