NDTV Khabar

7 साल बाद लोकपाल की मांग को लेकर अन्‍ना फिर भूख हड़ताल पर बैठे, कहा-देश के लिए जान दे दूंगा तो कोई ग़म नहीं

ऐतिहासिक भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के तकरीबन सात साल बाद सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने केन्द्र में लोकपाल नियुक्त करने की अपनी मांग को लेकर अनिश्चतकालीन भूख हड़ताल शुरू कर दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
7 साल बाद लोकपाल की मांग को लेकर अन्‍ना फिर भूख हड़ताल पर बैठे, कहा-देश के लिए जान दे दूंगा तो कोई ग़म नहीं

राजघाट में अन्‍ना हजारे

खास बातें

  1. लोकपाल नियुक्त करने की अपनी मांग को लेकर अनिश्चतकालीन भूख हड़ताल शुरू
  2. अंग्रेज चले गए पर लोकतंत्र नहीं मिला है और गोरे गए काले आ गए: अन्‍ना
  3. हमारे आंदोलनकारियों की बस रोक रहे हैं क्या यही लोकतंत्र है?
नई दिल्ली: ऐतिहासिक भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के तकरीबन सात साल बाद सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने केन्द्र में लोकपाल नियुक्त करने की अपनी मांग को लेकर अनिश्चतकालीन भूख हड़ताल शुरू कर दी है. 

अन्‍ना ने कहा कि अंग्रेज चले गए पर लोकतंत्र नहीं मिला है और गोरे गए काले आ गए. किसानों के प्रश्न पर करेंगे या मरेंगे. 80 साल की उम्र में मैं समाज और देश के लिए जान दे दूंगा तो कोई ग़म नहीं होगा. उन्‍होंने कहा कि सरकार हिल रही है और मंत्री कह रहे हैं कि हम ये काम करते हैं पर मैंने कहा कि मुझे इनके शब्दों पर यक़ीन नहीं है.

 

दिल्‍ली पुलिस ने अन्‍ना हजारे को सशर्त दी आंदोलन की इजाजत

गुरुवार रात को भी केंद्रीय कृषि मंत्री आए थे. उन्‍होंने कहा कि वो कृषि मूल्य आयोग बनाएंगे मैंने बोला मुझे नहीं है और किसानों को बताओ. ज़ुबानी आश्वासन नहीं ठोस कदम उठाओ. अन्‍ना ने कहा कि सरकार बुलाएगी तो अपने लोगों को भेजूंगा पर मेरा अनशन चलता रहेगा. हमारे आंदोलनकारियों की बस रोक रहे हैं क्या यही लोकतंत्र है?

अन्‍ना रामलीला मैदान में भूख हड़ताल पर बैठे हैं जहां वह 2011 में भी बैठे थे. बहरहाल, उम्मीद की जा रही है कि इस बार उनके हमले के केन्द्र में मोदी सरकार होगी. हजारे कृषि पर स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने के अलावा केन्द्र में लोकपाल और राज्यों में लोकायुक्तों की नियुक्ति की मांग पर जोर दे रहे हैं.

टिप्पणियां
प्राइम टाइम इंट्रो : क्यों हुई देरी लोकपाल की नियुक्ति में?

हजारे गुरुवार को रामलीला मैदान गये थे. आयोजकों ने दावा किया है कि प्रदर्शन के दौरान यहां हजारों लोग शामिल होंगे. दिल्ली यातायात पुलिस ने यात्रियों को अरुणा आसफ अली रोड, दिल्ली गेट, दरियागंज, नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन, अजमेरी गेट, पहाड़गंज, आईटीओ, राजघाट, मिंटो रोड, विवेकानंद मार्ग और जेएलएन मार्ग से बच कर निकलने की सलाह दी है.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement