उना में पीड़ितों से मिले राहुल, 5 लाख की मदद का ऐलान| 22 दलितों की पिटाई का नया वीडियो आया सामने

उना में पीड़ितों से मिले राहुल, 5 लाख की मदद का ऐलान| 22 दलितों की पिटाई का नया वीडियो आया सामने

उना के पीड़ितो से मिले राहुल गांधी...

खास बातें

  • राजुला में 22 मई को दलितों को इसी तरह पीटा गया था
  • कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज उना जाकर पीड़ित परिवारों से मिलेंगे
  • संसद में इस मुद्दे को लेकर विपक्ष ने सरकार को घेरा
अहमदाबाद:

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को गुजरात के उना में उस दलित व्यक्ति से मुलाकात की, जिसके चार बेटों को मरी गाय की खाल उतारने के बाद बुरी तरह से पीटा गया था। राहुल ने पीड़ित परिवार को पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया। उना में यह वारदात 11 जुलाई को हुई थी। उसके बाद से गुजरात के कई हिस्सों में दलित प्रदर्शन कर रहे हैं।

राहुल गांधी सुबह ही गुजरात के लिए रवाना हुए और सीधे पीड़ित बाबूभाई सरवैया के घर गए। उन्होंने परिवार के साथ 40 मिनट बिताए। राहुल के साथ कांग्रेस पार्टी के गुजरात मामले के प्रभारी गुरुदास कामत, राज्य में कांग्रेस अध्यक्ष भरत सिंह सोलंकी, दलित नेता कुमारी शैलजा और अन्य पार्टी नेता भी थे।

राहुल के गांव में पहुंचने के बाद बड़ी संख्या में लोग वहां इकट्ठा हो गए। राहुल ने पीड़ितों से खुलकर बात की और बाबूभाई के भतीजे जीतू सरवैया से पूछा कि यह पहली बार हुआ है या फिर जातिगत भेदभाव को वे लोग काफी समय से झेल रहे हैं? उन्होंने पूछा, 'यहां छुआछूत क्या पहले से है या अभी है?' इस पर 20 वर्षीय जीतू सरवैया ने कहा, 'इसमें कुछ नया नहीं है। हमारे लिए यह सामान्य है।'

इंजीनियरिंग छात्र जीतू परिवार में एकमात्र शिक्षित व्यक्ति हैं। उन्होंने कहा कि कमाई का कोई और जरिया नहीं होने की वजह से वे लोग चमड़े के कारखानों के लिए मृत जानवरों की खाल निकालने के व्यवसाय में हैं। जीतू ने कहा, 'हमें पैसे नहीं चाहिए लेकिन हमें अपनी आजीविका के लिए सहयोग चाहिए। हम समाज की गंदगी दूर करते हैं और बदले में हमें समाज से यह सब मिलता है।'

राहुल गांधी परिवार के साथ बैठे। उन्होंने बाबूभाई सरवैया का हाथ पकड़ा और उस क्षण सभी भावुक हो गए। राहुल ने परिवार के साथ चाय भी पी। राहुल गांधी ने गांव में दलित युवकों पर हुई बर्बर अत्याचार की वीडियो क्लिप भी देखी है। इस क्लिप के वायरल होने के बाद इसकी निंदा की जा रही है। राहुल गांधी इसके बाद राजकोट रवाना हो गए जहां दलितों की पिटाई के खिलाफ जहर देकर जान देने की कोशिश करने वाले युवक अस्पताल में भर्ती हैं।

वहीं दलितों की पिटाई के ताजा घटनाक्रम के बाद कुछ पुराने मामले भी सामने आ रहे हैं। उना से 50 किलोमीटर दूर राजुला में 22 मई को दलितों को इसी तरह पीटा गया था। वीडियो भी बनाया गया, लेकिन FIR के बावजूद दो महीने तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। अब जब उना मामले पर बवाल खड़ा हुआ है तब मामला फिर से उठा और कुछ गिरफ़्तारियां हुई हैं।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

संसद में इस मुद्दे को लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर हमले कर रहा है। 22 जुलाई को अरविंद केजरीवाल भी उना जाकर पीड़ित परिवारों से मिलेंगे।

VIDEO: गुजरात में दलितों की पिटाई से जुड़ा नया वीडियो आया सामने