NDTV Khabar

जजों के नाम पर घूस लेने के मामले में एक और याचिका दाखिल, SC ने पूछा- इस मामले पर दूसरी याचिका क्यों?

मेडिकल कॉलेज को राहत देने के लिए जजों के नाम पर घूस लेने के मामले में एक अन्य याचिका दायर की गई है. इस याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को होने वाली पांच जजों की संविधान पीठ में टैग करने के लिए चीफ जस्टिस के पास भेजा है.

80 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
जजों के नाम पर घूस लेने के मामले में एक और याचिका दाखिल, SC ने पूछा- इस मामले पर दूसरी याचिका क्यों?

सुप्रीम कोर्ट

खास बातें

  1. जजों के नाम पर घूस लेने के मामले में एक और याचिका दाखिल
  2. SC ने पूछा- इस मामले पर दूसरी याचिका क्यों?
  3. पांच जजों की संविधान पीठ के पास पहुंचा यह मामला
नई दिल्ली: मेडिकल कॉलेज को राहत देने के लिए जजों के नाम पर घूस लेने के मामले में एक अन्य याचिका दायर की गई है. इस याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को होने वाली पांच जजों की संविधान पीठ में टैग करने के लिए चीफ जस्टिस के पास भेजा है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जब पहले ही एक याचिका दाखिल हो गई थी, तो दूसरी याचिका दाखिल क्यों की गई? हालांकि, कोर्ट ने कहा कि आरोप गंभीर हैं और इन पर विचार जरूरी है. याचिकाकर्ता की ओर से प्रशांत भूषण मे कहा कि सीजीआई को इस मामले में कोई न्यायिक आदेश या प्रशासनिक आदेश जारी ना करें. लेकिन बेंच ने इस मामने पर कहा कि कहा कि ये चीफ जस्टिस पर है कि वो इस केस की सुनवाई में रहे या नहीं. 

यह भी पढ़ें: SC ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में वकील की जमानत याचिका खारिज की

मेडिकल कॉलेज को राहत के लिए उच्च न्यायिक पदों पर बैठे लोगों के नाम पर घूस लेने के मामले में  सीबीआई और ओडिशा हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज समेत कई लोगों की गिरफ्तार हो चुकी है. कैंपेन फॉर ज्यूडिशियल अकाउंटेबिल्टी एंड रिफॉर्म्स संगठन की ओर से इस मामले की सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड चीफ जस्टिस की देखरेख में एसआईटी से जांच कराने की मांग की गई है. 

VIDEO: अधिकारों के मामले में केजरीवाल सरकार को SC से बड़ा झटका
हालांकि, गुरुवार को ही एक अन्य बेंच ने इसी तरह की याचिका के मामले में पांच वरिष्ठ जजों के संविधान पीठ का गठन किया है और 13 नवंबर को इसकी सुनवाई होगी. कोर्ट ने सीबीआई को मामले से जुड़ी केस डायरी व दस्तावेज सीलबंद कवर में संविधान पीठ के सामने रखने के आदेश जारी किया है. कोर्ट ने केंद्र व सीबीआई को नोटिस भी जारी किए हैं.  


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement