पुलवामा जैसे आतंकी हमले को टाला गया, जम्मू-कश्मीर हाईवे के पास मिला 52 किलो विस्फोटक: सेना

सेना ने सजगता का परिचय देते हुए जम्‍मू-कश्‍मीर में पुलवामा जैसे हमले को नाकाम कर दिया है. जम्‍मू-कश्‍मीर हाईवे के पास से 52 किलोग्राम विस्‍फोटक बरामद किया गया है.

पुलवामा जैसे आतंकी हमले को टाला गया, जम्मू-कश्मीर हाईवे के पास मिला 52 किलो विस्फोटक: सेना

आतंकियों की पुलवामा जैसे हमले करने की साजिश को सेना ने किया नाकाम

कश्मीर:

सेना ने सजगता का परिचय देते हुए जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu Kashmir) में पुलवामा (Pulwama) जैसे हमले को नाकाम कर दिया है. जम्‍मू-कश्‍मीर हाईवे के पास से 52 किलोग्राम विस्‍फोटक बरामद किया गया है. आतंकियों की योजना इस विस्‍फोटक की मदद से पुलवामा जैसे आतंकी वारदात को अंजाम देने की थी, जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे.

जम्मू-कश्मीर में बीते 36 घंटों में 10 आतंकियों का सफाया, श्रीनगर में 3 आतंकी ढेर, एक ASI शहीद

सेना द्वारा दिए गए बयान के मुताबिक, करेवा (Karewa) में गुरुवार की सुबह 8 बजे एक संयुक्त सर्च ऑपरेशन के दौरान एक सिनटेक्स टैंक का खुलासा किया जो कि खोदा गया था, जहां कुल 52 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री पाए गए. प्रत्येक में 125 ग्राम के साथ विस्फोटक के 416 पैकेट थे.

सेना ने बताया कि सर्च ऑपरेशन में एक और ऐसा ही टैंक मिला, जिसमें करीब 50 डिटोनेटर्स थे. जिस स्थान पर विस्फोटक पाए गए, वह हाईवे और 2019 पुलवामा हमले स्थल से 9 KM दूर पर है. पिछले साल 14 फरवरी को, 40 से अधिक सैनिक मारे गए थे जब एक आत्मघाती हमलावर ने सुरक्षाबलों के काफिले में विस्फोटकों से भरी कार को टक्कर मार दी थी.

पुलवामा हमले के बाद 43 युवक आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हुए : सूत्र

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कुछ दिन बाद, पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद आतंकी प्रशिक्षण सुविधा को खत्म करने के लिए भारतीय वायु सेना ने कई दिनों तक हमले किए. इसके एक दिन बाद LoC पर हवाई लड़ाई हुई, माहौल कुछ ऐसा बन गया था जैसे कि भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध भी हो सकता है.

राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने हाल ही में चार्जशीट में कहा था कि पुलवामा हमले के पीछे पाकिस्तान स्थित आतंकी मास्टरमाइंड मसूद अजहर और उसके भाई रऊफ असगर अहम साजिशकर्ता थे.