अनुप्रिया पटेल देंगी झटका? बीजेपी को अल्टीमेटम की मियाद खत्म, अब अपना दल फैसला लेने के लिए स्वतंत्र

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले एक बार फिर से बीजेपी को बड़ा झटका लगने वाला है. अनुप्रिया पटेल की पार्टी अपना दल ने बीजेपी को जो अल्टीमेटम दिया था, उसकी मियाद खत्म हो चुकी है.

अनुप्रिया पटेल देंगी झटका? बीजेपी को अल्टीमेटम की मियाद खत्म, अब अपना दल फैसला लेने के लिए स्वतंत्र

अनुप्रिया पटेल (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले यूपी की सियासत अभी पूरे देश में केंद्र में है. भले ही इस बार बीजेपी राज्य में 74 सीटें जीतने का दावा कर रही हों, मगर यूपी में उनके सहयोगियों का मिजाज उनके इस दावे पर पानी फेर सकता है. दरअसल, लोकसभा चुनाव से ठीक पहले एक बार फिर से बीजेपी को बड़ा झटका लगने वाला है. अनुप्रिया पटेल की पार्टी अपना दल ने बीजेपी को जो अल्टीमेटम दिया था, उसकी मियाद खत्म हो चुकी है और अब अपना दल ने साफ कहा है कि वह अब अपना फैसला लेने के लिए स्वतंत्र है. अब अपना दल भी राजनीतिक नफा-नुकसान को भांपने में जुट गई है और अब वह बीजेपी के साथ रहेगी या नहीं, इसका फैसला पार्टी की बैठक में जल्द ही करेगी. 

उत्तर प्रदेश में BJP को झटका! ओम प्रकाश राजभर ने CM योगी को पत्र लिखकर की मंत्रालय छोड़ने की पेशकश

केंद्रीय मंत्री और अपना दल की मुखिया अनुप्रिया पटेल ने कहा कि बीजेपी के साथ हमें कुछ समस्याएं आईं और उसको हमने शीर्ष नेतृत्व के सामने रखा भी और 20 फरवरी तक हमने उन्हें समय दिया कि इन समस्याओं का समाधान करे. लेकिन उन्होंने इन समस्याओं का समाधान नहीं किया. दरअसल, अपना दल ने बीजेपी को 20 फरवरी तक का अल्टीमेटम दिया था कि वह अपना दल से बातचीत कर उनके जो मुद्दे है, उसे सुलझा ले, मगर बीजेपी ने अभी तक कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई है.

विश्वविद्यालयों में रोस्टर सिस्टम से भर्ती होने पर आरक्षित वर्ग के प्रोफेसर की संख्या और कम हो जाएगी: अपना दल (एस)

अनुप्रिया पटेल ने आगे कहा कि इससे यही प्रतीत होता है कि बीजेपी को शिकायतों से कोई लेना-देना नहीं है और समस्याओं के समाधान में कोई रुची नहीं है. इसलिए अपना दल अब स्वतंत्र है अपना रास्ता चुनने के लिए. हमारी पार्टी की बैठक हमने बुला ली है. अब पार्टी जो तय करेगी हम वो करेंगे. 

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले आखिर क्यों बिखर रहा है NDA का कुनबा?

इससे पहले अपना दल ने बीजेपी को दो टूक कहा है कि या तो वे अपने सहयोगियों के साथ व्यवहार सुधारें या तो पार्टी 'कोई भी निर्णय' ले सकती है. अपना दल-सोनेलाल के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष पटेल ने लखनऊ में कहा कि, ‘उनकी पार्टी वर्ष 2014 से भाजपा के साथ गठबंधन में है और पूरी ईमानदारी से गठबंधन धर्म का पालन का पालन कर रही है, लेकिन यूपी में उसे बीजेपी ने उचित सम्मान नहीं दिया. आशीष पटेल ने चेतावनी भरे लहजे में कहा ‘भाजपा अपना व्यवहार बदले, वरना हमारी नेता (अनुप्रिया पटेल) कोई भी निर्णय ले सकती हैं. शेर को जगाइये मत. यह शेर आपके पीछे चल रहा है, इसे हिंसक मत बनाइये. हमारी नेता जो भी निर्णय लेंगी, पूरी पार्टी उसका समर्थन करेगी‘.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो- NDA सरकार से अलग हुए उपेंद्र कुशवाहा