अखलाक हत्याकांड : तनाव के बीच रॉबिन का शव बिसाहड़ा गांव पहुंचा, आज होगा अंतिम संस्कार

अखलाक हत्याकांड : तनाव के बीच रॉबिन का शव बिसाहड़ा गांव पहुंचा, आज होगा अंतिम संस्कार

रवि उर्फ रॉबिन...

खास बातें

  • बिसाहड़ा गांव में होगा अखलाक का अंतिम संस्कार
  • रवि के घरवालों का आरोप है कि जेल में पिटाई होने से उसकी मौत हुई
  • रवि एक साल से कासना जेल में बंद है
नई दिल्ली:

अखलाक की हत्या के एक आरोपी रॉबिन का शव देर रात कड़ी सुरक्षा के बीच बिसाहड़ा लाया गया. आज उसका अंतिम संस्कार किया जाएगा. इधर बुधवार को दिन भर रॉबिन के परिवारवाले, गांव वालों के साथ प्रदर्शन करते रहे. गांव की पंचायत की मांग है कि परिवार को 1 करोड़ का मुआवजा और सरकारी नौकरी दी जाए.

रवि के घरवालों का आरोप है कि जेल में पिटाई होने से रवि की मौत हुई. रवि अपने कई साथियों के साथ हत्या के आरोप में पिछले एक साल से कासना जेल में बंद था. जेल के अधिकारी इस मामले पर कैमरे पर तो कुछ नहीं बोल रहे लेकिन उन्होंने बताया कि रवि को तबीयत खराब होने पर 30 सितंबर को नोएडा के सरकारी अस्पताल में दिखाया गया.
अस्पताल ने मेडिकल जांच के बाद उसे वापस भेज दिया था.उसके बाद उसका इलाज जेल के अस्पताल में ही चलता रहा. 4 सितंबर को तबीयत ज्यादा खराब होने पर उसे फिर से नोएडा के सरकारी अस्पताल ले जाया गया. वहां से उसे दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल में रेफर कर दिया गया और 4 सितंबर की देर शाम उसकी मौत हो गई.

एलएनजेपी अस्पताल के डॉक्टरों का कहना है कि रवि को सांस लेने की परेशानी के साथ-साथ, तेज बुखार और शुगर लेवल बहुत ज्यादा था. शुरुआती जांच में उसकी मौत की वजह किडनी फेल होना बताया गया है हालांकि मौत की सही वजह पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से ही साफ़ हो पाएगी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com