दिल्लीवासियों को कल से मिलेगी प्रदूषण में राहत, सुधर सकता है AQI

हरियाणा और पंजाब की सरकारों से पराली जलाने पर रोक लगाने की गुजारिश की गई है.

दिल्लीवासियों को कल से मिलेगी प्रदूषण में राहत, सुधर सकता है AQI

29 अक्टूबर को दिल्ली के प्रदूषण में पराली का 25 फीसदी योगदान था.

खास बातें

  • CPCB ने तमाम एजेंसियों को लगाई फटकार
  • बढ़ाया गया कंस्ट्रक्शन के काम पर रोक का समय
  • 2 नवंबर तक बंद रहेंगी फैक्ट्रियां और नॉन पीएनजी उद्योग
नई दिल्ली:

दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण के स्तर में गुरुवार दोपहर से पहले सुधार की गुंजाइश नहीं है. फिलहाल प्रदूषण 400 के पार है जो सीवियर केटेगरी है. गुरुवार दोपहर बाद यानी कल ये वेरी पुअर की केटेगरी में पहुंचेगा. लगातार दो दिनों से सीवियर केटेगरी में जा पहुंचे प्रदूषण के स्तर को लेकर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) ने टास्क फोर्स और दिल्ली एनसीआर की अलग-अलग एजेंसियों को तलब किया है. 

दिल्ली में खतरनाक स्तर पर पहुंचा प्रदूषण, शुक्रवार से मास्क बांटेगी केजरीवाल सरकार

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने दिल्ली,फरीदाबाद,नोएडा और गुरुग्राम में कोयला आधारित फैक्ट्री और दिल्ली की नॉन पीएनजी उद्योग 2 नवम्बर तक बंद रखने के आदेश जारी किए हैं, जो पहले के आदेश के मुताबिक 30 नवंबर तक बंद रखना था.  साथ ही दिल्ली एनसीआर में कंस्ट्रक्शन पर भी समय की मियाद के साथ-साथ पाबंदी 30 अक्टूबर की जगह 2 नवंबर तक कर दिया गया है. कंस्ट्रक्शन के काम पर शाम 6 से सुबह 6 बजे तक की रोक को अब बढ़ाकर सुबह 10 बजे तक कर दिया गया है. 

MCD, NDMC और NHAI समेत तमाम एजेंसियों के काम से नाखुश CPCB ने इन्हें फटकार लगाई. सीपीसीबी ने इन एजेंसियों को निर्देश दिया है कि 24 घंटे में प्रदूषण संबंधित शिकायतों का निपटारा करें. शिकायत या तो सीपीसीबी के समीर एप के जरिए मिली हो या फिर सोशल मीडिया के जरिए.

Newsbeep

पंजाब-हरियाणा में बढ़ रही हैं पराली जलाने की घटनाएं, नासा ने जारी की ताजा तस्वीरें 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


CPCB के मुताबिक 29 अक्टूबर को दिल्ली के प्रदूषण में पराली का 25 फीसदी योगदान था जो अनुमान है कि 30 नवंबर को 29 फीसदी तक पहुंचने की आशंका है. इसके चलते हरियाणा और पंजाब की सरकारों से पराली जलाने पर रोक लगाने की गुजारिश की गई है.

VIDEO: जहरीली हवा से बेहाल दिल्ली-एनसीआर