भारत-चीन सीमा पर तनाव के बीच लद्दाख पहुंचे आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे, तैयारियों का लिया जायजा

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (Manoj Mukund Naravane) ने लद्दाख का दौरा किया. भारत (India) और चीन (China) में बढ़ते तनाव के बीच सेना प्रमुख से यह दौरा किया.

भारत-चीन सीमा पर तनाव के बीच लद्दाख पहुंचे आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे, तैयारियों का लिया जायजा

आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे लद्दाख पहुंचे. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • लद्दाख पहुंचे आर्मी चीफ मनोज मुकुंद नरवणे
  • सीमा पर लिया तैयारियों का जायजा
  • भारत-चीन की सेना के बीच हुई थी हाथापाई
लद्दाख:

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (Manoj Mukund Naravane) ने लद्दाख का दौरा किया. भारत (India) और चीन (China) में बढ़ते तनाव के बीच सेना प्रमुख से यह दौरा किया. इस दौरान नरवणे के साथ सेना की उत्तरी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल वाई.के. जोशी भी थे. हालांकि सेना प्रमुख अग्रिम चौकियों पर नहीं गए, पर पूरे हालात का जायजा लिया.

इसी इलाके में पिछले दिनों भारत और चीन की सेना के बीच हाथापाई हुई थी. सेना प्रमुख ने शुक्रवार को भारतीय सेना की तैयारियों का निरीक्षण भी किया. बता दें कि चीन के साथ सीमा क्षेत्र को लेकर जारी तनातनी पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को दावा किया कि लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) से लगे क्षेत्र के पास भारत को गश्‍त लगाने में चीन बाधा डाल रहा है. इसके साथ ही भारत ने चीनी क्षेत्र में भारतीय सैनिकों की घुसपैठ के कारण दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ने के चीन के आरोपों को भी मजबूती से खारिज किया.

विदेश मंत्रालय ने कहा कि सीमा पर भारत की सभी गतिविधियां भारतीय क्षेत्र की ओर ही होती रही हैं और नई दिल्ली ने सीमा प्रबंधन की दिशा में हमेशा अत्यंत जिम्मेदार रवैया अपनाया है. मंत्रालय ने इसके साथ ही कहा कि भारत अपनी संप्रभुता और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि यह चीनी पक्ष था जिसने क्षेत्रों में भारत की सामान्य गश्त को हाल में बाधित करने वाली गतिविधियां कीं. श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘ऐसी कोई बात सच नहीं है कि भारतीय सैनिकों ने पश्चिमी सेक्टर या सिक्किम सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को पार करने की कोई गतिविधि की.'' उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय सैनिक भारत-चीन सीमा क्षेत्रों में वास्तविक नियंत्रण रेखा के संरेखण से पूरी तरह अवगत हैं और ईमानदारी से इसका पालन करते हैं.''

भारत और चीन के बीच की सीमा रेखा को एलएसी कहा जाता है. श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘असल में, यह चीनी पक्ष है जिसने हाल में भारत की सामान्य गश्त को बाधित करने की गतिविधि की. भारतीय पक्ष ने सीमा प्रबंधन के प्रति हमेशा अत्यंत जिम्मेदार रुख अपनाया है. साथ ही, हम भारत की संप्रभुता और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध हैं.'' चीन ने भारत पर लद्दाख में गैर-निर्धारित सीमा की स्थिति को बदलने का एकतरफा प्रयास करने का आरोप लगाया है. (इनपुट भाषा से भी)

VIDEO: लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल के पास भारत को गश्‍त लगाने में बाधा डाल रहा चीन : विदेश मंत्रालय

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com