NDTV Khabar

भारत में सेना सर्वाधिक भरोसेमंद, राजनेताओं पर सबसे कम भरोसा, सर्वेक्षण में सामने आई बात

शहरी क्षेत्रों में 70 प्रतिशत से ज्यादा भारतीय सशस्त्र सेना को सबसे ज्यादा भरोसेमंद पेशा मानते हैं, जबकि इनमें से अधिकांश लोग राजनेताओं को संशय की दृष्टि से देखते हैं. यह जानकारी एक नए सर्वेक्षण में सामने आई है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
भारत में सेना सर्वाधिक भरोसेमंद, राजनेताओं पर सबसे कम भरोसा, सर्वेक्षण में सामने आई बात

प्रतीकात्मक चित्र.

नई दिल्ली :

शहरी क्षेत्रों में 70 प्रतिशत से ज्यादा भारतीय सशस्त्र सेना को सबसे ज्यादा भरोसेमंद पेशा मानते हैं, जबकि इनमें से अधिकांश लोग राजनेताओं को संशय की दृष्टि से देखते हैं. यह जानकारी एक नए सर्वेक्षण में सामने आई है. मार्केट रिसर्च फर्म इप्सोस के एक अध्ययन के अनुसार, वैज्ञानिकों और शिक्षकों ने भारत में भरोसेमंद पेशे के मामले में क्रमश: दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया है. 'ग्लोबल ट्रस्ट इन प्रोफेशंस' शीर्षक नामक अध्ययन के अनुसार, "कम से कम 59 प्रतिशत शहरी भारतीयों ने राजनीति को सबसे कम भरोसेमंद पेशा बताया. उसके बाद सरकार के मंत्री (52 प्रतिशत) और विज्ञापन अधिकारी (41 प्रतिशत) का स्थान है." इप्सोस इंडिया के एक अधिकारी पारिजात चक्रवर्ती ने कहा, "सशस्त्र बलों को सर्वाधिक समर्पित बल माना गया है, जो बलिदान, प्रतिबद्धता और अनुशासन के मूल्यों से परिभाषित होते हैं." 

15 फीसदी अदालत परिसरों में महिलाओं के लिए नहीं हैं टॉयलेट, 16 हजार परिसरों की सर्वे रिपोर्ट में खुलासा


चक्रवर्ती ने कहा, "उसी तरह वैज्ञानिकों और शिक्षकों को भी जोरदार पेशा माना गया है, जो देश निर्माण में अपना योगदान देते हैं." उन्होंने कहा, "तंत्र(सिस्टम) को साफ करने की कोशिश के बावजूद राजनेता अधिकतर लोगों का विश्वास नहीं जीत सके हैं. उसी तरह विज्ञापन पेशवरों, रुचिकर कॉपी लिखने वाले और रचनात्मकता का प्रदर्शन करने वाले, ब्रांड के गुणों को प्रदर्शित करने वालों को संदेह भरी नजरों से देखा जाता है." अध्ययन के लिए, प्रत्येक देश के एक वैश्विक भरोसा सूचकांक की गणना की गई. इसके लिए सभी पेशे के कुल भरोसा अंक लिए गए और सभी पेशे के गैर-भरोसा अंक को घटा दिया गया. अध्ययन के अनुसार, आश्चर्यजनक रूप से वैश्विक भरोसा सूचकांक में भारत ने चीन के बाद दूसरा स्थान प्राप्त किया.  

टिप्पणियां

पाकिस्तान में 50 प्रतिशत से अधिक परिवारों के पास नहीं है दो वक्त का भी खाना - सर्वे

वैश्विक रूप से, लोगों ने वैज्ञानिकों (60 प्रतिशत), डॉक्टरों (56 प्रतिशत) और शिक्षकों (52 प्रतिशत) को सबसे ज्यादा भरोसेमंद माना. वैश्विक स्तर पर भी नागरिकों ने राजनेताओं (67 प्रतिशत), सरकार के मंत्रियों (57 प्रतिशत), विज्ञापन अधिकारी (46 प्रतिशत) को सबसे ज्यादा गैर भरोसेमंद पेशा माना, जोकि इस मामले में भारतीय नागरिकों के मत को ही परिलक्षित कर रहा है. सर्वेक्षण में 16-74 वर्ष की उम्र के बीच के 19,587 वयस्कों के अंतर्राष्ट्रीय नमूनों को शामिल किया गया है. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement