ब्रिटेन से करीब 2,200 भारतीयों को लाया गया, OCI कार्ड धारक छात्रों ने की मदद की अपील

कोरोनावायरस से संक्रमण के चलते अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगी रोक की वजह से ब्रिटेन में फंसे करीब 2,200 भारतीयों को वंदे भारत मिशन के पहले चरण में स्वदेश लाया गया है.

ब्रिटेन से करीब 2,200 भारतीयों को लाया गया, OCI कार्ड धारक छात्रों ने की मदद की अपील

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  • 2,200 भारतीयों को वंदे भारत मिशन के पहले चरण में स्वदेश लाया गया
  • अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगी रोक की वजह से ब्रिटेन में फंसे थे
  • आठ मई को लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे से मुंबई के बीच उड़ी पहली उड़ान
लंदन:

कोरोनावायरस से संक्रमण के चलते अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगी रोक की वजह से ब्रिटेन में फंसे करीब 2,200 भारतीयों को वंदे भारत मिशन के पहले चरण में स्वदेश लाया गया है. यह जानकारी आधिकारिक आंकड़े में दी गई. भारत सरकार द्वारा विदेश में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए शुरू अबतक के सबसे बड़े मिशन के तहत एअर इंडिया की पहली उड़ान का परिचालन आठ मई को लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे से मुंबई के बीच किया गया. इसके साथ ही भारतीय छात्रों और पर्यटकों को लेकर ब्रिटेन से भारत के विभिन्न शहरों के लिए विशेष उड़ानों का परिचालन शुरू हुआ.

भारत की सरकारी विमानन कंपनी एअर इंडिया के विमान ब्रिटेन से भारतीयों को लेकर मुंबई, नई दिल्ली, बेंगलुरु, चेन्नई और अहमदाबाद रवाना हुए. लंदन स्थित भारतीय उच्चायोग ने बताया, ‘हमनें 17 मई तक एअर इंडिया की आठ उड़ानों के जरिए ब्रिटेन में फंसे 2,288 भारतीयो को वापस भेजा गया है. वंदे भारत मिशन भारतीयों की वापसी के लिए जारी रहेगा.' कोविड-19 की वजह से अंतरराष्ट्रीय यात्राओं पर लगी रोक के चलते फंसे भारतीयों को लाने के लिए भारत ने अबतक के सबसे बड़े वापसी अभियान वंदे भारत मिशन की शुरुआत की है.

भारतीयों को वापस लाने के अभियान का दूसरा चरण प्रक्रियागत है. इस बीच बृहस्पतिवार को दिल्ली के लिए रवाना होने वाले विमान में ब्रिटेन में भारतीय उच्चायुक्त पद से सेवानिवृत्त हुई रुचि घनश्याम भी होंगी. ब्रिटेन में भारतीय पत्रकारों के परिसंघ की ओर से घनश्याम के लिए दिए गए आभासी विदाई समारोह में उन्होंने कहा, ‘यह बहुत व्यस्त समय है लेकिन मैं उम्मीद करती हूं कि भविष्य में लोगों को अलविदा कहने के लिए व्यक्तिगत रूप से लौटूंगी.' ब्रिटेन से रोजाना भारतीयों को भारत के विभिन्न शहरों के लिए विशेष विमानों से रवाना किया जा रहा है लेकिन अब भी कुछ लोग हैं जो बेसब्री से वापसी का इंतजार कर रहे हैं.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com