NDTV Khabar

किसी के कहने पर नहीं, अपनी मर्जी से लिखा पिता की राय से असहमति जताने वाला लेख : जयंत सिन्हा

एक प्रमुख अंग्रेजी दैनिक में प्रकाशित आलेख को लेकर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह पूरी तरह अपने विवेक से लिखा गया

140 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
किसी के कहने पर नहीं, अपनी मर्जी से लिखा पिता की राय से असहमति जताने वाला लेख : जयंत सिन्हा

केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा है कि उन्होंने अपने पिता यशवंत सिन्हा से असहमति जताने वाला लेख अपने विवेक से लिखा है.

खास बातें

  1. कहा- पिता के साथ उनके विचारों में भिन्नता बहुत गंभीर विमर्श
  2. यह अर्थव्यवस्था के भविष्य के बारे में बहुत गंभीर चर्चा
  3. इस चर्चा को निजी तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए
नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने गुरुवार को इस बात को खारिज कर दिया कि उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था की स्थिति के बारे में अपने पिता एवं पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा की राय से असहमति जताने वाला आलेख किसी और व्यक्ति के कहने पर लिखा है.

जयंत ने इस बात पर जोर दिया कि उनका आलेख पूरी तरह से अपने विवेक से लिखा गया. उनका यह आलेख गुरुवार को एक प्रमुख अंग्रेजी दैनिक में प्रकाशित हुआ था. इसके एक दिन पहले उनके पिता ने एक अन्य अंग्रेजी अखबार में देश की अर्थव्यस्था की हालत पर आलेख लिखकर केंद्र सरकार की नीतियों की तीखी आलोचना की थी.

यह भी पढ़ें : सरकार के बचाव में उतरे बेटे जयंत पर भी यशवंत सिन्हा की टिप्पणी, इतने ही सक्षम थे तो फिर वित्त मंत्रालय से क्यों हटाया गया

नागर विमानन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा ने यह भी कहा कि अपने पिता के साथ उनके विचारों में भिन्नता ‘बहुत गंभीर विमर्श’ है और इसे निजी तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए.

यह भी पढ़ें : यशवंत सिन्हा को बेटे जयंत सिन्हा का करारा जवाब- GST और नोटबंदी को बताया गेमचेंजर

जयंत सिन्हा ने एक टेलीविजन चैनल से कहा, ‘‘यह पूरी तरह से मेरा विवेक था. मैं ऐसे किसी भी आरोप को खारिज करता हूं जिसमें यह कहा गया है कि मुझसे यह आलेख लिखने के लिए कहा गया था. मैं आलेख लिखना चाहता था.’’ जयंत ने कहा, ‘‘यह अर्थव्यवस्था के भविष्य के बारे में बहुत गंभीर चर्चा है और इसे निजी तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए.’’ यशवंत सिन्हा ने अपने आलेख में अर्थव्यवस्था की कथित खराब स्थिति के लिए वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधा था.

VIDEO : पिता के आरोप पर बेटे का जवाब

गौरतलब है कि यशवंत सिन्हा अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वित्त मंत्री रह चुके हैं. सरकार के बचाव में अपने बेटे के उतरने पर पूर्व वित्त मंत्री ने सवाल किया कि यदि उनकी चिंताओं के निवारण के लिए उनके पुत्र जयंत इतने ही सक्षम थे तो फिर उन्हें वित्त मंत्रालय से हटाकर दूसरे मंत्रालय में क्यों भेजा गया.
(इनपुट भाषा से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement