NDTV Khabar

पेट्रोल-डीजल से एक्साइज ड्यूटी कम करने से हो सकता है नुकसान, लोग ईमानदारी से टैक्स भरें : अरुण जेटली

अरुण जेटली ने नागरिकों से कहा कि वे अपने हिस्से के करों का ईमानदारी से भुगतान करें, जिससे पेट्रोलियम पदार्थों पर राजस्व के स्रोत के रूप में निर्भरता कम हो सके.

2.5K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पेट्रोल-डीजल से एक्साइज ड्यूटी कम करने से हो सकता है नुकसान, लोग ईमानदारी से टैक्स भरें : अरुण जेटली

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. एक्साइज ड्यूटी कम करने की बात की खारिज
  2. 'नॉन ऑयल कैटेगरी टैक्स से बचकर न निकलें'
  3. 'टैक्स भरें ताकि टैक्स के लिए तेल पर निर्भरता कम हो'
नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने पेट्रोल और डीजल पर से एक्साइज ड्यूटी कम करने की बात को खारिज कर दिया है. जेटली ने कहा कि इस तरह का कोई भी क़दम नुक़सानदायक हो सकता है. जेटली ने लोगों से कहा कि वे अपने हिस्से का टैक्स ईमादनारी से भुगतान करें, जिससे पेट्रोलियम पदार्थों पर राजस्व के स्रोत के रूप में निर्भरता कम हो सके. इसके साथ ही उन्होंने नागरिकों से कहा कि वे अपने हिस्से के करों का ईमानदारी से भुगतान करें, जिससे पेट्रोलियम पदार्थों पर राजस्व के स्रोत के रूप में निर्भरता कम हो सके.

अर्थव्यवस्था पर जुबानी जंग: जब सुरजेवाला ने बीजेपी को बताया 'एजेंडा-विहीन' तो जेटली बोले- तथ्यों से बात करें

उन्होंने कहा कि पिछले चार साल के दौरान केंद्र सरकार का कर - जीडीपी अनुपात 10 प्रतिशत से सुधरकर 11.5 प्रतिशत हो गया है. इसमें से करीब आधी (जीडीपी का 0.72 प्रतिशत) वृद्धि गैर- तेल कर जीडीपी अनुपात से हुईहै. जेटली ने कहा कि गैर - तेल कर से जीडीपी अनुपात 2017-18 में 9.8 प्रतिशत था. यह 2007-08 के बाद सबसे ऊंचा स्तर है. उस साल हमारे राजस्व की स्थिति अनुकूल अंतरराष्ट्रीय वातावरण की वजह से सुधरी थी. उन्होंने कहा कि इस सरकार ने राजकोषीय मजबूती और वृहद आर्थिक दायित्व व्यवहार को लेकर मजबूत प्रतिष्ठा कायम की है. 

अरुण जेटली का राहुल गांधी पर तंज, 'बुद्धि विरासत में नहीं मिलती' 

टिप्पणियां
अरुण जेटली की अपील
- भारत, आसानी से टैक्स भरने वाले समाज से दूर 
- नॉन ऑयल कैटेगरी टैक्स से बचकर न निकलें 
- टैक्स भरें ताकि टैक्स के लिए तेल पर निर्भरता कम हो
- राजकोषीय गणित में बदलाव उल्टा साबित हो सकता है


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement