NDTV Khabar

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 'महागठबंधन' पर किया तंज , कहा- इनका काम सिर्फ पीएम मोदी की बुराई करना भर है

अरुण जेटली (Arun Jaitley) ने वीडियो लिंक के जरिये एक टीवी चैनल के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि राजनीतिक तौर पर सजग और आकांक्षी हमारा समाज इस गठबंधन को ज्यादा अहमियत नहीं देगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 'महागठबंधन' पर किया तंज , कहा- इनका काम सिर्फ पीएम मोदी की बुराई करना भर है

अरुण जेटली ने महागठबंधन पर साधा निशाना

खास बातें

  1. अरुण जेटली ने कहा विपक्ष को हमारा काम नहीं दिखता
  2. पीए मोदी की बुराई करना ही बचा है विपक्ष का काम- जेटली
  3. अरुण जेटली ने कहा महागठबंधन को कोई स्वीकार नहीं करेगा
नई दिल्ली:

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) ने एक बार फिर महागठबंधन (Mahagathbandhan) पर हमला बोला है. उन्होंने (Arun Jaitley) लोकसभा चुनाव को लेकर विपक्ष द्वारा बनाए गए इस गठबंधन पर तंज किया. अरुण जेटली (Arun Jaitley) ने कहा कि इन सभी पार्टियों का एक मात्र मकसद रह गया है और वह है पीएम मोदी की बुराई करना. इसके अलावा इन्हें और कुछ समझ नहीं आता है. वित्त मंत्री ने महागठबंधन (Mahagathbandhan) के नेताओं को ‘नकारात्मकता के नवाब' भी कहा. अरुण जेटली ने वीडियो लिंक के जरिये एक टीवी चैनल के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि राजनीतिक तौर पर सजग और आकांक्षी हमारा समाज इस गठबंधन को ज्यादा अहमियत नहीं देगा. उन्होंने कहा कि इस गठबंधन (Mahagathbandhan) में सभी नेता नकारात्मकता के शिकार हैं. यह वजह है कि इनकी बातों को आम जनता गंभीरता से नहीं ले रही है और न ही आगे लेगी.

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सरकार की सफाई: हमने CVC की सिफारिश पर भेजा था छुट्टी


बता दें अरुण जेटली इस समय चिकित्सा के लिये अमेरिका गये हुए हैं. उन्होंने मंगलवार को देश छोड़ने के बाद पहली बार किसी सार्वजनिक कार्यक्रम को संबोधित किया है. हाल ही में तीन हिंदी भाषी राज्यों में भारतीय जनता पार्टी की हार के बाद कुछ विपक्षी नेता गठबंधन जैसा विकल्प खड़ा कर चुनावों में जीत की उम्मीद रखने लगे हैं.  वित्त मंत्री ने कहा कि महागठबंधन को आपस में जोड़े रखने के लिये उनके पास न तो वैचारिक समानता है, न ही देश को आगे बढ़ाने का साझा कार्यक्रम है और न ही उनके पास कोई एक सर्वमान्य नेता है.

यह भी पढ़ें: रवीश कुमार का BLOG: पकौड़े के पीछे नौकरी के सवाल से भागती मोदी सरकार

उन्होंने कहा कि नेतृत्व, निर्णयात्मकता, प्रदर्शन और संभावना की भारतीय जनता पार्टी की क्षमता के उत्तर में विपक्ष द्वारा पेश किया जा रहा विकल्प अंकगणितीय है. उन्होंने कहा कि राजनीति में अंकगणित से नहीं बल्कि गुणधर्म से सफलता मिलती है. अरुण जेटली ने कहा कि उनका आधार है कि उनकी राजनीति गुणवत्ता से नकारात्मक है, और उनकी नकारात्मकता है कि उन्हें एक व्यक्ति (मोदी) सत्ता से बाहर चाहिये. किसी एक व्यक्ति को बाहर करने की नकारात्मकता ने उन्हें एक साथ खड़ा कर दिया है.

यह भी पढ़ें: वित्त मंत्री अरुण जेटली मेडिकल जांच के लिए अचानक अमेरिका रवाना : सूत्र

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि चुनाव की तैयारी के दौरान राजनीतिक बहस के स्तर को ऊपर उठाने की जरूरत है. उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि नारेबाजी की ऐसी राजनीति से कोई भला नहीं होने वाला है जहां भावनात्मक बातें अच्छी नीतियों पर भारी पड़ जाती हैं. वित्त मंत्री ने कांग्रेस के कृषि ऋण माफी के वादे का जिक्र किए बिना कहा कि नारेबाजी की राजनीति से अर्थव्यवस्था को कोई फायदा नहीं होता है. इससे देश के सपनों को झटका लगता है. (इनपुट भाषा से) 

VIDEO: अरुण जेटली ने आयकर को लेकर किया ऐलान.

 

 

टिप्पणियां

 

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement