NDTV Khabar

नोटबंदी का एक साल: 8 नवंबर को सरकार और विपक्ष के बीच होगी 'भिड़ंत'

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि 8 नवंबर को बीजेपी के नेता देशभर में कालेधन के खिलाफ सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में लोगों को जानकारी देंगे.

475 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
नोटबंदी का एक साल: 8 नवंबर को सरकार और विपक्ष के बीच होगी 'भिड़ंत'

पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री अरुण जेटली

नई दिल्ली: 8 नवंबर को नोटबंदी का एक साल पूरा होने पर जहां विपक्ष ने काला दिवस मनाने की घोषणा की है, वहीं आज बीजेपी ने ऐलान किया है कि वह इस दिन को 'कालाधन विरोधी दिवस' के रूप में मनाएगी. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि 8 नवंबर को बीजेपी के नेता देशभर में कालेधन के खिलाफ सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में लोगों को जानकारी देंगे. जेटली ने कहा कि नोटबंदी कालेधन के खिलाफ एक बड़ा अभियान था. इसके जरिये ब्लैक मनी पर आखिरी मौका दिया गया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी का एक मकसद 'लेस कैश इकोनॉमी' को बढ़ावा देना भी था. वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि जीएसटी के माध्यम से एक नया दौर चल रहा है.

यह भी पढ़ें : नोटबंदी और GST ने भारतीय अर्थव्यवस्था को ‘और अधिक मजबूत रास्ते’ पर ला दिया: अरुण जेटली

वित्त मंत्री ने कांग्रेस की मंशा पर सवाल भी उठाए. उन्होंने सरकारी बैंकों को फंड मुहैया कराने के फैसले की आलोचना करने के लिए कांग्रेस नेता आनंद शर्मा को आड़े हाथों लिया. जेटली ने कहा कि यूपीए के वक्त बैकों से अनाप-शनाप कर्ज दिए गए, जिससे एनपीए की समस्या खड़ी हुई. उल्लेखनीय है कि मंगलवार को विपक्ष ने नोटबंदी को 'सदी का सबसे बड़ा घोटाला' करार देते हुए घोषणा की थी कि इस फैसले के एक साल पूरे होने पर विपक्षी दल 8 नवंबर को 'काला दिवस' मनायेंगे तथा देश भर में विरोध-प्रदर्शन करेंगे. विपक्ष का दावा है कि नोटबंदी के कारण अर्थव्यवस्था एवं नौकरियों को नुकसान पहुंचा है. राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पिछले साल 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1000 रुपये और 500 रुपये के नोटों को प्रचलन से बंद किए जाने की घोषणा की थी.

VIDEO : नोटबंदी के कारण पूरा देश सड़क पर आ गया: गुलाम नबी आजाद
विपक्ष ने तभी नोटबंदी के फैसले के कारण अर्थव्यवस्था की हालत बुरी होने, बेरोजगारी बढ़ने और सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) कम होने की आशंका जतायी थी. आजाद ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने नोटबंदी के कारण जीडीपी में दो प्रतिशत कमी आने की जो आशंका जतायी थी, वह पूरी तरह सही साबित हुई.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement