NDTV Khabar

अरुण जेटली ने विजय माल्या के दावे को किया खारिज, पढ़ें वित्त मंत्री का पूरा बयान...

अरुण जेटली ने शराब कारोबारी विजय माल्या के इस बयान को खारिज किया कि वह (माल्या) 2016 में भारत छोड़कर लंदन जाने से पहले उनसे मिला था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अरुण जेटली ने विजय माल्या के दावे को किया खारिज, पढ़ें वित्त मंत्री का पूरा बयान...

वित्त मंत्री अरुण जेटली. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने माल्या के दावे का किया खंडन
  2. 2014 में मंत्री बनने बाद माल्या को मिलने का समय नहीं दिया
  3. उन्होंने कहा कि माल्या के बयान में कोई सच्चाई नहीं है
नई दिल्ली: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने विजय माल्या से मुलाकात के दावे का खंडन किया. अरुण जेटली ने शराब कारोबारी विजय माल्या के इस बयान को खारिज किया कि वह (माल्या) 2016 में भारत छोड़कर लंदन जाने से पहले उनसे मिला था. जेटली ने कहा कि 2014 में मंत्री बनने बाद उन्होंने माल्या को कभी मिलने का समय नहीं दिया, लेकिन शराब कारोबारी ने राज्यसभा सदस्य के रूप में अपने विशेषाधिकार का गलत इस्तेमाल करते हुए संसद भवन के गलियारे में उन्हें रोककर बात करने की कोशिश की थी. वित्त मंत्री ने फेसबुक पर एक लेख में माल्या के लंदन में दिए गए बयान को 'तथ्यात्मक रूप से गलत' बताया. उन्होंने कहा कि उसके बयान में 'सच्चाई नहीं है.'

लंदन कोर्ट के बाहर विजय माल्या ने कहा- देश छोड़ने से पहले अरुण जेटली से मिला था, वित्त मंत्री ने कही यह बात




 
उन्होंने लिखा है, '2014 के बाद से मैंने उसे मिलने का समय नहीं दिया है और उससे उनकी मुलाकात का सवाल ही पैदा नहीं होता.' जेटली के मुताबिक राज्यसभा के सदस्य होने के नाते माल्या ने कभी कभी संसद की कार्यवाही में भी हिस्सा लिया. माल्या ने लंदन में कहा, 'मैंने जिनिवा में एक बैठक में हिस्सा लेने के लिए देश छोड़ा था. भारत छोड़ने से पहले मैं वित्त मंत्री से मिला था और बैंकों के साथ सुलह के अपने प्रस्ताव को दोहराया था. यह एक सच्चाई है.'
 
हालांकि माल्या ने इस बारे में कुछ नहीं बताया कि उसे देश से बाहर निकलने का संकेत 'किसने दिया था.' वित्त मंत्री ने माल्या के बयान के बारे में लिखा है, 'उसने एक बार इस विशेषाधिकार का गलत फायदा उठाया और जब मैं सदन से निकल कर अपने कमरे की तरफ बढ़ रहा था तो वह तेजी से पीछा कर मेरे पास आ गया. चलते-चलते उसने कहा कि उसके पास ऋण के समाधान की एक योजना है.' जेटली ने कहा, 'उसकी पहले की ऐसी 'झूठी पेशकश' के बारे में पहले से पूरी तरह अवगत होने के कारण उसे बातचीत आगे बढ़ाने का मौका नहीं देते हुए मैंने कहा कि 'मुझसे बात करने का कोई फायदा नहीं है और उसे अपनी बात बैंकों के सामने रखनी चाहिए.' वित्त मंत्री ने कहा कि माल्या के हाथ में कुछ कागज थे, जो उन्होंने नहीं लिए.

टिप्पणियां
VIDEO : भारत छोड़ने से पहले जेटली से मिले थे माल्या

जेटली ने कहा कि इस एक वाक्य की बातचीत के अलावा उन्होंने कभी इस शराब कारोबारी को समय नहीं दिया. जेटली ने लिखा है कि पिछले चार-पांच साल में उनकी माल्या से बातचीन नहीं हुई है. माल्या के बयान पर कांग्रेस ने सवाल उठाया है कि आखिर शराब कारोबारी को देश से भागने की छूट किसने दी. इस सवाल पर जेटली ने कहा कि कांग्रेस पार्टी हमेशा झूठ की राजनीति करती रही है. वित्त मंत्री ने कहा, 'कांग्रेस आकंठ भ्रष्टाचार में डूबी है और उसके भ्रष्टाचार का लंबा इतिहास है.' उन्होंने कहा, 'हमारे जैसे लोग जो दशकों से राजनीति में हैं और स्वच्छ राजनीति से जुड़े हैं, वे कांग्रेस की राजनीति को समझ नहीं सकते.' 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement