NDTV Khabar

गुरमेहर कौर मामले में कूदे बड़े नेता, अरविंद केजरीवाल और राहुल गांधी समर्थन में उतरे तो वेंकैैया दिखे गुस्से में

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरमेहर कौर मामले में कूदे बड़े नेता, अरविंद केजरीवाल और राहुल गांधी समर्थन में उतरे तो वेंकैैया दिखे गुस्से में

गुरमेहर कौर ....

खास बातें

  1. राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल समर्थन में उतरे
  2. गुरमेहर को दी गई पुलिस सुरक्षा
  3. कल बीजेपी सांसद ने की दाऊद से तुलना
नई दिल्ली: रामजस कॉलेज में हुई हिंसा के बाद से अब भी दिल्ली विश्वविद्यालय के नॉर्थ कैंपस का माहौल गरमाया हुआ है. आज AISA और NSUI के छात्र यूनिवर्सिटी के इलाके में मार्च करने की तैयारी में हैं, लेकिन इससे पहले यहां भारी संख्या में पुलिसबल की तैनाती कर दी गई है ताकि किसी तरह के हंगामे को होने से रोका जा सके. वहीं रामजस कॉलेज में हुई हिंसा का मसला कथित राष्ट्रवाद बनाम बोलने और विरोध करने की आजादी में बदल गया है.  मोदी सरकार में बोलने की आजादी नहीं होने के विपक्ष के आरोपों को खारिज करते हुए केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने सोमवार को कहा कि देश में इतनी अधिक स्वतंत्रता है कि प्रधानमंत्री तक की तुलना 'गधे' से की जा सकती है. नायडू ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'आपको देश में अभिव्यक्ति की इतनी आजादी है कि आप प्रधानमंत्री को नाम लेकर बुला सकते हैं,  आप उनकी तुलना 'गधे' से कर सकते हैं और आप कहते हैं कि अभिव्यक्ति की आजादी नहीं है.

गुरमेहर ने दिया रिजीजू को जवाब
रामजस कॉलेज में हुई हिंसा के बाद चर्चा में आईं गुरमेहर कौर ने केंद्रीय मंत्री किरन रिजीजू के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि मेरे दिमाग को कोई दूषित नहीं कर रहा है. मैं राष्ट्र विरोधी नहीं हूं.

राहुल और अरविंद केजरीवाल उतरे गुरमेहर के समर्थन में
इस मसले पर गुरमेहर कौर को राजनीतिक समर्थन मिला है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल डीयू की छात्रा गुरमेहर कौर के समर्थन में आ गए हैं. राहुल गांधी ने कहा है कि तानाशाही के इस दौर के बीच हम अपने छात्रों के साथ हैं.
  वहीं अरविंद केजरीवाल ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी अब अपराधियों और गुंडों की पार्टी बन गई है. ये ख़ुद राष्ट्रविरोधी नारे लगवाते हैं, नारे लगाने वाले भाग जाते हैं और फिर दूसरों को पीटते हैं. कहीं भी नारे लगाने वाले पकड़े क्यों नहीं गए.
गुरमेहर को दी गई पुलिस सुरक्षा
गुरमेहर को दी गई पुलिस सुरक्षा रामजस कालेज में हुई हिंसा के खिलाफ गुरमेहर कौर अकेले सामने आईं और फेसबुक पर अभियान चलाया. उनका साथ और भी लड़कियों ने दिया और हाथ में बैनर लेकर सामने आईं कि वे एबीवीपी से नहीं डरती हैं. इसके बाद गुरमेहर को जान से मारने से लेकर बलात्कार की धमकियां दी जाने लगीं. वहीं गुरमेहर कौर को पुलिस सुरक्षा दे दी गई है.

टिप्पणियां
किरेन रिजिजू ने किया था ट्वीट
किरेन रिजिजू ने किया था यह ट्वीट केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट करके चुटकी लेते हुए कहा था कि इस लड़की के मस्तिष्क को कौन प्रदूषित कर रहा है ? मजबूत सशस्त्र सेना युद्ध को रोकती है. भारत ने कभी किसी पर हमला नहीं किया लेकिन कमजोर भारत पर हमेशा हमला किया गया. ’’ उन्होंने बाद में कहा कि किसी को ऐसी बातें नहीं बोलनी चाहिए जिससे देशवासियों और सशस्त्र बलों का मनोबल गिरे. सभी को स्वतंत्रता है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं कि आप देश को कमजोर करने के लिए नारे लगाए.’’
बीजेपी सांसद ने की थी दाऊद से तुलना
बीजेपी सांसद ने की थी दाऊद से तुलना बीजेपी सांसद के ट्वीट ने इस विवाद को और बढ़ा बना दिया है. मैसूर से बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा ने शंखनाद की बनाई तस्वीर को ट्वीट करके गुरमेहर कौर की तुलना दाऊद इब्राहिम से की है. इसे लेकर विवाद बढ़ रहा है.

क्या है मामला
गौरतलब है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में एक सेमिनार को लेकर दो छात्र संगठनों के विवाद के बीच दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा ने आरोप लगाया था कि ABVP के विरोध में आवाज़ उठाने पर उसे सोशल मीडिया पर रेप की धमकी मिल रही है. NDTV के WE THE PEOPLE शो में शहीद की बेटी ने भावुक होते हुए कहा कि वह किसी पार्टी या विचारधारा के साथ नहीं है. लेकिन छात्रों के हक के लिए वह हमेशा लड़ती रहेगी. रामजस में हुई झड़प के बाद गुरमेहर कौर ने अपने फेसबुक पेज पर कुछ पोस्ट डाले थे, जिसमें उसके हाथ में ABVP के विरोध के बैनर थे. साथ ही लिखा था कि मेरे पिता को पाकिस्तान ने नहीं, युद्ध ने मारा है. छात्रा ने कहा कि मुझे सोशल मीडिया पर बहुत सारी धमकियां मिल रही हैं. मैंने जो प्रोफ़ाइल पिक्चर बदला है अगर आप उसे देखेंगे तो लोग मुझे धमकियां दे रहे हैं और देशद्रोही बता रहे हैं. जब लोग हिंसा या रेप की धमकी देते हैं तो यह बहुत डरावना होता है. राहुल नाम के एक शख़्स ने रेप को लेकर काफ़ी विस्तार से लिखा है जो कि बहुत भयावह है. देशभक्ति के नाम पर अपने देश की महिलाओं को रेप की धमकी देना बिल्कुल ग़लत है. आप ऐसा नहीं कर सकते हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement