NDTV Khabar

अरविंद केजरीवाल बोले- दिल्ली में NRC लागू हुआ तो सबसे पहले मनोज तिवारी को जाना होगा

आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने बुधवार को दिल्ली में किरायेदार के तौर पर रहने वाले लोगों के लिए नई योजना की घोषणा की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अरविंद केजरीवाल बोले- दिल्ली में NRC लागू हुआ तो सबसे पहले मनोज तिवारी को जाना होगा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल.

नई दिल्ली:

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने बुधवार को एनआरसी पर एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि अगर दिल्ली में एनआरसी लागू होता है तो सबसे पहले मनोज तिवारी को जाना होगा. केजरीवाल से पूछा गया था कि दिल्ली में पत्रकार पर जो हमला हुआ था, उस पर मनोज तिवारी का कहना है कि उसके लिए घुसपैठिये ज़िम्मेदार हैं. क्या दिल्ली में एनआरसी लागू होना चाहिए? इसके जवाब में उन्होंने कहा, 'अगर NRC दिल्ली में लागू हुआ तो सबसे पहले मनोज तिवारी को दिल्ली छोड़नी पड़ेगी.' 

सीएम केजरीवाल से यह सवाल बुधवार को उनकी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद पूछा गया था. इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने बुधवार को दिल्ली में किरायेदार के तौर पर रहने वाले लोगों के लिए नई योजना की घोषणा की, जिसके तहत किरायेदार भी बिजली सब्सिडी का लाभ ले सकते हैं. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ‘मुख्यमंत्री किरायेदार बिजली मीटर योजना' की घोषणा करते हुए कहा कि अभी तक किरायेदारों को दिल्ली सरकार की बिजली सब्सिडी योजना का लाभ नहीं मिलता था, जिसके तहत 200 यूनिट तक बिजली खर्च करने पर कोई शुल्क नहीं देना पड़ता है.

दिल्ली के किराएदारों के लिए खुशखबरी: बिजली बिल को लेकर बड़ी राहत, CM केजरीवाल ने किया ऐलान


केजरीवाल ने साथ ही कहा, दिल्ली में किरायेदारों की ये एक पुरानी मांग है. किरायेदार 3,000 रुपये की सुरक्षा राशि जमा करके प्रीपेड मीटर लगवा सकेंगे.' नई योजना के तहत किरायेदारों को यह सुविधा हासिल करने के लिए किरायानामा या किरायेदारी की रसीद और वे जहां रह रहे हैं, वहां का निवास प्रमाण-पत्र जमा करना होगा.

दिल्ली का पानी खराब होने पर रामविलास पासवान ने टोका तो केजरीवाल ने दिया जवाब

केंद्र सरकार की ओर से असम में हालही में एनआरसी लागू किया गया है. जिसको लेकर काफी विवाद भी हो रहा है. तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की कोलकाता यात्रा के कार्यक्रम से पहले मंगलवार को भगवा पार्टी से स्पष्टीकरण मांगते हुए पूछा कि असम में एनआरसी से बड़ी तादाद में हिंदुओं को बाहर क्यों किया गया. शाह ‘नागरिक पंजी और नागरिकता (संशोधन) विधेयक' पर एक संगोष्ठि को संबोधित करने के लिए एक अक्टूबर को शहर का दौरा करेंगे. वह दो विषयों पर एक संगोष्ठि को संबोधित करने के अलावा एक सामुदायिक दुर्गा पूजा का शुभारंभ करेंगे.

NRC के खौफ से हुईं मौतों का दोष हम पर नहीं मढ़ा जा सकता: BJP

केंद्रीय गृह मंत्री ने बार-बार कहा है कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) देश भर में क्रियान्वित किया जाएगा. असम में एनआरसी की अंतिम सूची को लेकर भगवा पार्टी पर निशाना साधते हुए तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्था चटर्जी ने कहा, ‘‘अपने आप को हिंदुओं का रक्षक बताने से पहले भाजपा को यह स्पष्ट करना चाहिए कि उनमें से बड़ी संख्या में लोगों को असम में एनआरसी सूची से क्यों बाहर क्यों किया गया.'

टिप्पणियां

असम की तरह पश्चिम बंगाल में NRC की ज़रूरत नहीं : अमित शाह से ममता बनर्जी

VIDEO: जानिए NRC को लेकर हो रही किस तरह की राजनीति?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement