कांग्रेस के नेता अरविंदर सिंह लवली हुए बीजेपी में शामिल, जानें पार्टी छोड़ने की वजह

खास बातें

  • टिकट बंटवारे से नाराज थे लवली
  • अजय माकन ने कोई राय नहीं ली
  • अमित शाह ने औपचारिक रूप से शामिल करवाया
नई दिल्ली:

एमसीडी चुनाव के मतदान से कुछ दिन पहले ही कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. दिल्ली कांग्रेस के कद्दावर नेता अरविंदर सिंह लवली अब बीजेपी में शामिल हो गए हैं. कहा जा रहा है कि वह एमसीडी चुनावों में टिकट बंटवारे नाराज थे. अमित शाह ने अरविंदर सिंह लवली को बीजेपी में औपचारिक रूप से शामिल करवाया. इस मौके पर मनोज तिवारी भी मौजूद थे. सूत्रों के मुताबिक- एमसीडी चुनावों में अजय माकन ने कांग्रेस के बड़े नेताओं को किनारे कर दिया. अपनी अनदेखी से कई नेता नाराज हैं. अरविंदर भी उन्हीं में से एक थे. टिकट बंटवारे में उनकी कोई राय नहीं ली गई, हालांकि एमसीडी चुनावों में उम्मीदवारों को लेकर अजय माकन के साथ मानमनौवल की कोशिशें की गई, लेकिन बात नहीं बनी. नतीजा लवली ने बीजेपी ज्वाइन कर ली. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के कमरे में अरविंदर सिंह लवली को गुलदस्ता और मिठाई खिलाकर बीजेपी में शामिल करवाया गया.

दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित ने कहा कि अरविंदर का इस तरह जाना पार्टी के साथ गद्दारी है. हां, ये सही है कि दिल्ली कांग्रेस में सुधार की जरूरत है. शीला ने बातों ही बातों में अजय माकन पर ठीकरा फोड़ दिया कि वे लोगों की नहीं सुन रहे हैं. जिस तरह वे काम कर रहे हैं उससे नेता खुश नहीं हैं.

शीला दीक्षित की सरकार में लवली शिक्षा मंत्री थे. वह कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं. 2014 में शीला दीक्षित के चुनाव हारने के बाद बाद हटा दिए गए थे, जिसके बाद अजय माकन को प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था. वह काफ़ी समय से पार्टी से नाराज़ थे. उनके साथ एक बार किरारी से विधायक का चुनाव लड़ चुके अमित मलिक भी बीजेपी शामिल हुए.

 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com