भारत में बढ़े कोरोनावायरस के मामले तो अब अपने नागरिकों को वापस बुला रहा चीन

भारत में कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और रोगियों की संख्या करीब 1.40 लाख होने वाली है. ऐसे में चीन ने अपने नागरिकों को यहां से वापस बुलाने का फैसला किया है.

भारत में बढ़े कोरोनावायरस के मामले तो अब अपने नागरिकों को वापस बुला रहा चीन

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  • भारत में 1 लाख 40 हजार के आस-पास पहुंच रहे हैं मामले
  • चीन ने भारत में फंसे अपने नागरिकों को बुलाने का किया फैसला
  • चीनी नागरिकों को विशेष उड़ानों में करनी होगी बुकिंग
नई दिल्ली:

चीन ने भारत में फंसे अपने छात्रों, पर्यटकों और कारोबारियों समेत अन्य नागरिकों को वापस बुलाने का फैसला किया है, जो यहां मुश्किलों का सामना कर रहे हैं और अपने घर लौटना चाहते हैं. चीनी दूतावास ने सोमवार को अपनी वेबसाइट पर नोटिस लगाया है जिसमें कहा गया है कि जो लोग घर लौटना चाहते हैं, वे विशेष उड़ानों में टिकट बुक कराएं. भारत में कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और रोगियों की संख्या करीब 1.40 लाख होने वाली है. ऐसे में चीन ने अपने नागरिकों को यहां से वापस बुलाने का फैसला किया है.

कोरोनावायरस की शुरुआत दिसंबर में चीन के वुहान शहर से हुई थी. दुनियाभर में इस वायरस से 54 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और 3.4 लाख से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. भारत ने फरवरी में वुहान से करीब 700 भारतीयों को निकाला था.

चीनी दूतावास के नोटिस में कहा गया है कि घर वापसी करना चाह रहे लोगों को उड़ान के दौरान और चीन में प्रवेश के बाद क्वारंटीन और महामारी रोकथाम संबंधी सभी नियमों का पालन करना होगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मैंडेरिन में प्रकाशित नोटिस में कहा गया है कि पिछले 14 दिन में कोरोनावायरस का इलाज कराने वाले या बुखार और खांसी जैसे संक्रमण के लक्षण रखने वालों को विशेष उड़ानों में यात्रा नहीं करनी चाहिए. इसमें कहा गया है कि यात्रा के टिकट और चीन में क्वारंटीन में रहने का खर्च नागरिक को उठाना होगा.

वीडियो: कोरोनावायरस लॉकडाउन के बाद रिकवरी का रास्ता क्या है?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)