मॉस्को में चीन के साथ बातचीत पर ओवैसी का तंज- ....क्या PM मोर के साथ खेलने में व्यस्त हैं?

ओवैसी ने शनिवार को अपने ट्वीट में लिखा, "मास्को में हुई द्विपक्षीय बातचीत के पश्चात् चीन के रक्षा मंत्री के बयान जारी करने के 8 घंटे बाद भी हमारी सरकार की ओर से कोई बयान नहीं आया है."

मॉस्को में चीन के साथ बातचीत पर ओवैसी का तंज- ....क्या PM मोर के साथ खेलने में व्यस्त हैं?

प्रधानमंत्री पर ओवैसी का तंज (फाइल फोटो)

खास बातें

  • ओवैसी का प्रधानमंत्री पर तंज
  • क्या मोर के साथ खेलने में व्यस्त हैं प्रधानमंत्री : ओवैसी
  • चीन पर बोलने के लिए उनके पास समय नहीं : ओवैसी
नई दिल्ली:

सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन के रक्षा मंत्रियों की रूस में बैठक के बाद AIMIM प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर तंज कसा है. ओवैसी ने सवाल पूछा कि क्या हमारे प्रधानमंत्री अपने आवास (प्रधानमंत्री आवास) के बगीचे में मोरों के साथ खेलने में इतने व्यस्त हैं कि लद्दाख में चीन द्वारा कब्जाई गई 1000 वर्ग किलोमीटर जगह पर बोलने के लिए उनके पास समय नहीं है.

ओवैसी ने शनिवार को रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को टैग करते हुए अपने ट्वीट में लिखा, "मास्को में हुई द्विपक्षीय बातचीत के पश्चात् चीन के रक्षा मंत्री के बयान जारी करने के बाद भी हमारी सरकार की ओर से कोई बयान नहीं आया है. क्या हमारे प्रधानमंत्री अपने महल के बगीचे में मोरों के साथ खेलने में इतने व्यस्त हैं कि उनके पास लद्दाख में चीन द्वारा कब्जाई गई 1000 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र पर बोलने के लिए समय नहीं है.?"

बता दें कि भारत और चीन के मध्य पर सीमा विवाद (LAC Dispute) को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) और चीनी रक्षा मंत्री वेई फेंगही के बीच रूस में शुक्रवार को बैठक हुई. बैठक के बाद चीन की ओर से शनिवार को बयान जारी किया गया. चीनी सरकार ने बयान में आरोप लगाया है कि लद्दाख (Ladakh) में तनाव बढ़ाने के लिए भारत "पूरी तरह" से जिम्मेदार है. साथ ही बयान में कहा गया है कि चीन अपनी एक इंच जमीन भी नहीं छोड़ सकता है.

Newsbeep

हालांकि चीन के बयान के तुरंत बाद भारत के रक्षा मंत्री के कार्यालय की भी ओर से भी बयान जारी किया गया. इसमें कहा गया कि "बैठक के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि LAC पर जल्द से जल्द पूरी तरह से शांति बहाल करने और तनाव को कम करने के लिए दोनों पक्षों को राजनयिक और सैन्य माध्यमों के जरिये बातचीत जारी रखनी चाहिए."

वीडियो: भारत और चीन के रक्षा मंत्रियों के बीच मुलाकात, दोनों देशों ने जारी किए बयान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com