Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

आखिर, असदुद्दीन ओवैसी ने क्यों बोला, 'माशाअल्लाह मोदी है तो हर नामुमकिन-मुमकिन है'

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) की तरफ से जारी आर्थिक वृद्धि दर अनुमान को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आखिर, असदुद्दीन ओवैसी ने क्यों बोला, 'माशाअल्लाह मोदी है तो हर नामुमकिन-मुमकिन है'

असदुद्दीन ओवैसी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. असदुद्दीन ओवैसी का नरेंद्र मोदी पर हमला
  2. 'माशाअल्लाह मोदी है तो हर नामुमकिन-मुमकिन है'- ओवैसी
  3. भारत की आर्थिक वृद्धि दर 4.8 प्रतिशत रहेगी- IMF
नई दिल्ली:

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (IMF) की तरफ से जारी आर्थिक वृद्धि दर अनुमान को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है. अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष ने दावोश में जारी विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) के सालाना शिखर सम्मेलन में जारी अपने रिपोर्ट में अनुमान जताया कि भारत का वृद्धि दर 4.8 रहेगी. रिपोर्ट का हवाला देते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा "माशाल्लाह मोदी है हर नामुमकिन-मुमकिन है"

आईएमएफ के ताजा अनुमान के अनुसार 2019 में वैश्विक वृद्धि दर 2.9 प्रतिशत रहेगी. जबकि 2020 में इसमें थोड़ा सुधार आयेगा और यह 3.3 प्रतिशत पर पहुंच जायेगी. उसके बाद 2021 में 3.4 प्रतिशत रहेगी. इससे पहले आईएमएफ ने पिछले साल अक्टूबर में वैश्विक वृद्धि का अनुमान जारी किया था. उसके मुकाबले 2019 और 2020 के लिये उसके ताजा अनुमान में 0.1 प्रतिशत कमी आई है जबकि 2021 के वृद्धि अनुमान में 0.2 प्रतिशत अंक की कमी आई है.


भारतीय अर्थव्यवस्था को झटका, दिसंबर थोक मुद्रास्फीति दर बढ़कर 2.59 प्रतिशत पर

टिप्पणियां

मुद्राकोष ने कहा था, ‘‘आर्थिक वृद्धि के अनुमान में जो कमी की गयी है, वह कुछ उभरते बाजारों में खासकर भारत में आर्थिक गतिविधियों को लेकर अचंभित करने वाली नकारात्मक बातें हैं. इसके कारण अगले दो साल के लिये वृद्धि संभावनाओं का फिर से आकलन किया गया. कुछ मामलों में यह आकलन सामाजिक असंतोष के प्रभाव को भी प्रतिबिंबित करता है.''भारत में जन्मीं आईएमएफ की मुख्य अर्थशास्त्री गीता गोपीनाथ ने कहा कि मुख्य रूप से गैर-बैंकिंग वित्तीय क्षेत्र में नरमी तथा ग्रामीण क्षेत्र की आय में कमजोर वृद्धि के कारण भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान कम हुआ है.मुद्राकोष के अनुसार 2019-20 में भारत की आर्थिक वृद्धि दर 4.8 प्रतिशत रहेगी.

VIDEO: भारतीय GDP में गिरावट का असर पूरी दुनिया की अर्थव्यवस्था पर पड़ रहा है: गीता गोपीनाथ



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... क्रिकेट मैच में विकेटकीपर बना डॉगी, बिजली की रफ्तार से गेंद पर यूं लपका, एक्ट्रेस ने शेयर किया Video

Advertisement