NDTV Khabar

जम्मू-कश्मीर में शहीद गरुड़ कमांडो को दिया जाएगा अशोक चक्र सम्मान

रक्षा मंत्रालय की ओर से वक्तव्य में बताया गया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 69वें गणतंत्र दिवस समारोह की पूर्व संध्या पर सैन्यकर्मियों और अन्य के लिए 390 वीरता एवं रक्षा सम्मानों को मंजूरी दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर में शहीद गरुड़ कमांडो को दिया जाएगा अशोक चक्र सम्मान

गणतंत्र दिवस पर वायुसेना के कमांडो शहीद ज्योति प्रकाश निराला को मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्मानित किया जाएगा.

खास बातें

  1. वायु सेना के गरुड़ कमांडो ज्योति प्रकाश निराला को मरणोपरांत पुरस्कार
  2. सर्वोच्च वीरता पुरस्कार अशोक चक्र से सम्मानित किया जाएगा
  3. इन्होंने दो खूंखार आतंकियों को मार गिराया था
नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर में एक अभियान के दौरान दो आतंकवादियों को मार गिराने वाले भारतीय वायु सेना के गरुड़ कमांडो ज्योति प्रकाश निराला को मरणोपरांत शांतिकाल में सर्वोच्च वीरता पुरस्कार अशोक चक्र से सम्मानित किया जाएगा. कमांडो ज्योति कश्मीर के बांदीपोरा में आतंकियों से लड़ते हुए शहीद हो गए थे. शहीद होने से पहले वायुसेना के इस जवान ने दो खूंखार आतंकियों को मार गिराया था. इन आतंकियों में लश्कर कमांडर लखवी का भतीजा उबैद उर्फ ओसामा और महमूद भाई शामिल था. यही नहीं निराला ने अपने घायल साथियों को अपनी जान पर खेलकर बचाया.

वायुसेना के इस कमांडो की ओर से उनकी पत्नी यह सम्मान हासिल करेंगी. वायुसेना के मुताबिक यह पूरे फ़ोर्स के गर्व का पल है जब उसके गरुड़ कमांडो को अशोक चक्र से सम्मनित किया जा रहा है. रक्षा मंत्रालय की ओर से वक्तव्य में बताया गया कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 69वें गणतंत्र दिवस समारोह की पूर्व संध्या पर सैन्यकर्मियों और अन्य के लिए 390 वीरता एवं रक्षा सम्मानों को मंजूरी दी.

यह भी पढ़ें : 'चिल्लई कलां' से जूझ रही है कश्मीर घाटी, लेह में कड़ाके की ठंड

अशोक चक्र युद्ध के मैदान से इतर, शांतिकाल में अदम्य शौर्य दिखाने के लिए दिया जाने वाला सर्वोच्च सैन्य सम्मान है.
एक अशोक चक्र के अलावा राष्ट्रपति ने पुरस्कारों की जिस सूची को मंजूरी दी है उसमें एक कीर्ति चक्र, 14 शौर्य चक्र, 28 परम विशिष्ट सेवा पदक, चार उत्तम युद्ध सेवा पदक, दो बार टू अति विशिष्ट सेवा पदक, 49 अति विशिष्ट सेवा पदक, 10 युद्ध सेवा पदक, दो बार टू सेना पदक (वीरता), 86 सेना पदक शामिल है.

कोविंद ने नौसेना पदक (वीरता), तीन वायुसेना पदक (वीरता), दो बार टू सेना पदक (कर्तव्यपरायणता) , 38 सेना पदक (कर्तव्यपरायणता) , 13 नौसेना पदक (कर्तव्यपरायणता) , 14 वायुसेना पदक (कर्तव्यपरायणता) , एक बार टू विशिष्ट सेवा पदक और 121 विशिष्ट सेवा पदक को भी मंजूरी दी. कारपोरल निराला उस गरुड़ विशेष बल इकाई का हिस्सा थे जिसकी एक टुकड़ी जम्मू-कश्मीर में अभियान ‘रक्षक’ के तहत राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन के साथ संबद्ध थी. बांदीपुरा जिले के चंदेरगर गांव में खुफिया सूचना के आधार पर 18 नवंबर 2017 को अभियान चलाया गया था. उस अभियान में छह आतंकियों को मार गिराया गया लेकिन निराला भी इसमें शहीद हो गए.

VIDEO : दो शहीदों को अशोक चक्र​


टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर लाइट इन्फेंटरी के मेजर विजयंत बिष्ट को कीर्ति चक्र दिया जाएगा. शौर्य चक्र राजपूत रेजिमेंट के कैप्टन रोहित शुक्ला, विशेष बलों के कैप्टन अभिनव शुक्ला और कैप्टन प्रदीप शौरी आर्य, ग्रेनडियर रेजिमेंट के हवलदार मुबारक अली, गोरखा राइफल्स के हलवदार रबींद्र थापा, विशेष बलों के लांस नायक नरेंद्र सिंह, जम्मू-कश्मीर लाइट इन्फेंटरी के नायक बदर हुसैन और विशेष बलों के पैराट्रूपर मांचू को दिया जाएगा. गणतंत्र दिवस समारोह में सीबीआई के 27 अधिकारियों को उल्लेखनीय सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया जाएगा. सम्मानित किए जाने वाले अधिकारी देश के अलग-अलग हिस्सों में तैनात हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement