NDTV Khabar

सचिन पायलट नहीं, बल्कि अशोक गहलोत हो सकते हैं राजस्थान के मुख्यमंत्री: सूत्र

राजस्थान में मुख्यमंत्री के नाम पर स्थिति साफ होती दिख रही है. सूत्रों के मुताबिक राजस्थान में अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा और इसका ऐलान आज जयपुर में किया जाएगा

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सचिन पायलट नहीं, बल्कि अशोक गहलोत हो सकते हैं राजस्थान के मुख्यमंत्री: सूत्र

राहुल गांधी के साथ अशोक गहलोत (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. बैठक के बाद गहलोत जयपुर रवाना
  2. राहुल के साथ बैठक में लिया गया फैसला
  3. चार बजे होगा एलान
नई दिल्ली:

राजस्थान में मुख्यमंत्री के नाम पर स्थिति साफ होती दिख रही है. सूत्रों के मुताबिक राजस्थान में अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा और इसका ऐलान आज जयपुर में किया जाएगा. हालांकि, अभी भी पूरी तरह से साफ नहीं हो पाया है कि अशोक गहलोत ही सीएम बनेंगे या फिर सचिन पायलट. सूत्रों की मानें तो अभी दोनों नेता दिल्ली में ही मौजूद हैं और सचिन पायलट अभी भी सीएम पद की मांग पर अड़े हैं. सचिन पायलट और अशोक गहलोत दोनों ही मुख्यमंत्री की रेस में थे. विधायक दल की बैठक के बाद मुख्यमंत्री पद पर फैसला आलाकमान पर छोड़ दिया गया था. गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के घर पर बैठकों के कई दौर चले. बताया जा रहा है कि बैठक में राजस्थान की कमान गहलोत को सौंप देने का फैसला किया गया. हालांकि, अभी इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. 

मध्य प्रदेश में भी मुख्यमंत्री पद को लेकर सस्पेंस बना हुआ था. सूत्रों के मुताबिक मध्य प्रदेश में कमलनाथ को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा. वहीं ज्योतिरादित्य सिंधिया को डिप्टी सीएम का पद दिया जा सकता है. हालांकि, इसकी भी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. वहीं छत्तीसगढ़ को लेकर अभी भी सस्पेंस बना हुआ है. सूत्रों के मुताबिक छत्तीसगढ़ में प्रदेश कांग्रेस प्रभारी भूपेश बघेल कमोबेश सीएम की रेस में आगे हैं. हालांकि, इन्हें इस रेस में टीएमस सिंह देव, ताम्रध्वज साहू टक्कर दे रहे हैं. 


इस फार्मूले से कमलनाथ-सिंधिया से लेकर अशोक गहलोत-सचिन पायलट को साधने की तैयारी में कांग्रेस?​

विधानसभा चुनाव परिणाम 2018 : राजस्थान


राजस्थान की बात करें तो वहां सीएम की रेस में गहलोत पहले से ही आगे चल रहे थे. लेकिन सचिन पायलट उन्हें कड़ी टक्कर देते दिख रहे थे. यहां पार्टी आलाकमान ने तजुर्बे और युवा चेहरे के बीच तजुर्बे को चुना है. अशोक गहलोत पहले भी राजस्थान के सीएम रह चुके हैं और उन्हें काफी अनुभव है, वहीं सचिन पायलट राजस्थान में युवाओं के चहेते हैं. इसके अलावा कांग्रेस नेतृत्व के भी वह पसंदीदा चेहरे हैं. 

'MP, छत्तीसगढ़, राजस्थान में किसे CM होना चाहिए' वाले सवाल पर बोलीं सोनिया गांधी- प्लीज राहुल से पूछिए

तीन राज्यों में सीएम के नाम पर मंथन के लिए प्रियंका गांधी भी राहुल गांधी के घर पहुंचीं हैं. कांग्रेस पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक अशोक गहलोत और सचिन पायलट खेमों के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर चल रही कथित खींचतान के बीच राहुल गांधी ने बैठक की. राहुल गांधी के आवास 12 तुगलक लेन पर की गई. बैठक में राजस्थान के प्रभारी महासचिव अविनाश पांडे और पर्यवेक्षक की भूमिका निभा रहे वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल मौजूद थे. चल रहे गतिरोध के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक गुरुवार सुबह शुरू हुई थी. 

विधानसभा चुनाव परिणाम 2018 : मध्य प्रदेश


सीएम पद को लेकर चल रही खींचतान के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है, 'हम पार्टी में विभिन्न लोगों से इनपुट ले रहे हैं. हम विधायकों से, कार्यकर्ताओं से इनपुट ले रहे हैं. आपको जल्द ही मुख्यमंत्री मिल जाएगा.' अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) द्वारा छत्तीसगढ़ के लिए नियुक्त पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे का कहना है, 'सभी विधायकों ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को (छत्तीसगढ़ के) कांग्रेस विधायक दल का नेता चुनने के लिए अधिकृत किया है... वह जो भी फैसला लेंगे, विधायक उसे स्वीकार करने के लिए तैयार हैं...'

MP, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कौन होगा मुख्यमंत्री? जानें राहुल गांधी ने क्या जवाब दिया
 

विधानसभा चुनाव परिणाम 2018 : छत्तीसगढ़

बता दें, राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ तीनों ही राज्यों में कांग्रेस ने जीत हासिल की है. राजस्थान की 200 सीटों में से कांग्रेस को 99 मिलीं, जबकि भाजपा के हिस्से में 73 सीटें आईं. मध्य प्रदेश की 230 में से 114 कांग्रेस को मिली हैं, वहीं छत्तीसगढ़ की 90 सीटों में 68 कांग्रेस के हिस्से में गई हैं.  

विधानसभा चुनाव परिणाम 2018 : तेलंगाना


इसके अलावा तेलंगाना और मिजोरम चुनाव के नतीजे भी 11 दिसंबर को जारी किए गए थे. तेलंगाना में टीआरएस ने बाजी मारते हुए भाजपा, कांग्रेस और टीडीपी को बुरी तरह से धो डाला. तेलंगाना की 119 सीटों में से केसीआर की तेलंगाना राष्ट्र समिति पार्टी को 88 सीटें मिली हैं, वहीं टीडीपी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने वाली कांग्रेस को 19 सीटें मिली. टीडीपी ने दो सीटों पर जीत दर्ज की और  ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम की सात सीटें आई हैं. भाजपा को केवल एक, ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक को एक और एक सीट निर्दलीय को मिली है. 

एक तरफ 5 राज्यों के चुनावी नतीजों में BJP को मिल रही थी शिकस्त, वहीं PM मोदी कर रहे थे यह काम

मिजोरम की बात करें तो वहां 40 सीटों में से 36 सीटों पर मिजो नेशनल फ्रंट ने कब्जा कर लिया. कांग्रेस केवल पांच पर सिमट कर रह गई. इसके अलावा भाजपा ने एक सीट पर जीत दर्ज की तो आठ सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने कब्जा कर लिया. 

टिप्पणियां

इन कारणों से राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में डूबी BJP की लुटिया

आखिर क्या चाहते हैं राजस्थान के नौजवान ?  


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement