NDTV Khabar

अश्विनी लोहानी बने रेलवे बोर्ड के नए चेयरमैन, एके मित्तल का लेंगे स्थान

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. उनके स्थान पर अश्विनी लोहानी को बोर्ड का नया अध्यक्ष बनाया गया है.

160 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अश्विनी लोहानी बने रेलवे बोर्ड के नए चेयरमैन, एके मित्तल का लेंगे स्थान

अश्विनी लोहानी फिलहाल एयर इंडिया के सीएमडी हैं, अब उन्हें रेलवे बोर्ड का अध्यक्ष बनाया गया है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. नवनियुक्त अध्यक्ष अश्विनी लोहानी एयर इंडिया के प्रबंध निदेशक हैं
  2. रेल हादसों के बाद अशोक मित्तल ने दिया अध्यक्ष पद से इस्तीफा
  3. यूपी में एक हफ्ते के अंदर हुए हैं दो रेल हादसे, 23 लोगों की मौत
नई दिल्ली: मंगलवार की रात को कैफियत एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. उनके स्थान पर अश्विनी लोहानी को बोर्ड का नया अध्यक्ष बनाया गया है. लोहानी फिलहाल एयर इंडिया के सीएमडी हैं. इसके अलावा वे आईटीडीसी के भी चेयरमैन रह चुके हैं. लोहानी दिल्ली में रेल म्यूजियम के निदेशक के रूप में भी काम कर चुके हैं.

अश्विनी लोहानी 4 इंजीनियरिंग डिग्री ले चुके हैं. इनमें मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, मेटलर्जिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स और टेलीकम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग शामिल हैं. वे मध्य प्रदेश टूरिज्म डेवेलपमेंट कॉरपोरेशन के भी कमिश्नर और प्रबंध निदेशक भी रहे हैं.

यह भी पढ़ें:  तीन साल में हुए ये 10 बड़े रेल हादसे, 345 लोगों की गई जान

बता दें कि आजमगढ़ से दिल्ली आ रही 12225 (अप) कैफियत एक्सप्रेस औरैया के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई. मानव रहित फाटक पर फंसे एक डंपर में ट्रेन के टकराने से 12 डिब्बे पटरी से उतर गए. इस हादसे में 74 लोग घायल हुए. यह हादसा अछल्दा और पाता रेलवे स्टेशन के बीच मंगलवार की रात 2 बजकर 50 मिनट पर हुआ. इससे पहले पिछले ही हफ्ते 19 अगस्त को ही पुरी से हरिद्वार जा रही उत्कल एक्सप्रेस भी मुजफ्फरनगर खतौली में पटरी से उतर गई थी जिसमें 23 यात्रियों की मौत हुई और 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. इस घटना में रेलवे की लापरवाही सामने आई थी. 

यह भी पढ़ें:  सुरेश प्रभु ने रेल हादसों की ली नैतिक जिम्मेदारी, बोले- पीएम मोदी ने इंतजार करने को कहा है

बार-बार हादसों के शिकार हो रही रेलवे के बोर्ड से चेयरमैन एके मित्तल का इस्तीफा इन्हीं वजहों से जोड़कर देखा जा रहा है. हालांकि मित्तल ने लिखा है कि वे निजी कारणों से इस्तीफा दिया है. बता दें कि उनको 2 साल का एक्सटेंशन दिया गया था और उनके कार्यकाल का एक साल ही बचा था. 

VIDEO: अश्विनी लोहानी बने रेलवे बोर्ड के नए चेयरमैन

उधर, लगातार हो रहीं रेल दुर्घटनाओं पर रेल मंत्री समेत रेलवे के आला अधिकारियों को आलोचनाओं का शिकार होना पड़ रहा है. एक ही हफ्ते में दो रेल दुर्घटनाओं के बाद से भारतीय रेलवे विभाग सबके निशाने पर है. चर्चा है कि सुरेश प्रभु की भी रेल मंत्री पद से छुट्टी हो सकती है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement