NDTV Khabar

अश्विनी चौबे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान लगा था सोने का आरोप- स्वास्थ्य राज्य मंत्री बोले 'मैं सो नहीं रहा था बल्कि...'

Muzaffarpur Encephalitis Deaths: मुजफ्फरपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Ashwini Kumar Choubey) सोते हुए दिखे थे. अब अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey) इस पर सफाई देते नजर आ रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अश्विनी चौबे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान लगा था सोने का आरोप- स्वास्थ्य राज्य मंत्री बोले 'मैं सो नहीं रहा था बल्कि...'

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्निनी कुमार चौबे.

खास बातें

  1. अश्निनी चौबे पर लगा था प्रेस कॉन्फ्रेंस में सोने का आरोप
  2. सफाई देते नजर आ रहे हैं स्वास्थ्य राज्य मंत्री
  3. कहा- मैं सो नहीं रहा था बल्कि चिंतन कर रहा था
नई दिल्ली:

Muzaffarpur Encephalitis Deaths: बिहार के मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) में 'इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम' या 'चमकी' बुखार से अब तक 100 बच्चों की मौत हो चुकी है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन (Dr Harsh Vardhan) रविवार को बिहार दौरे पर थे और उन्होंने अस्पताल पहुंचकर हालात का जायजा लिया. इसके बाद उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस भी किया था और इस दौरान एक ऐसी तस्वीर सामने आई थी, जिससे विपक्ष को सरकार को घेरने का मौका मिल गया था. दरअसल, प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे (Ashwini Kumar Choubey) सोते हुए दिखे थे. अब अश्विनी चौबे (Ashwini Choubey) इस पर सफाई देते नजर आ रहे हैं. 17वीं लोकसभा का सत्र शुरू होने पर संसद पहुंचे अश्विनी कुमार चौबे (Ashwini Kumar Choubey) से जब इस बाबत सवाल पूछे गए तो उन्होंने कहा कि मैं मनन-चिंतन भी करता हूं, मैं सो नहीं रहा था. उनहोंने कहा कि प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान वह 'चिंतन' कर रहे थे.


स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन ने मेडिकल कॉलेज का जायजा लेने के बाद पत्रकारों से कहा था, 'मैं इस क्षेत्र के लोगों, विशेष रूप से प्रभावित परिवारों को विश्वास दिलाता हूं कि समस्या को जड़ से समाप्त करने के लिए केंद्र सरकार राज्य सरकार को सभी संभव आर्थिक और तकनीकी सहयोग देगी.' उन्होंने इस रोग के कारण इस इलाके में पिछले कई वर्षों से हो रही बच्चों की मौत के मद्देनजर मुजफ्फरपुर श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बीमार बच्चों के लिए वर्तमान की व्यवस्था को अपर्याप्त मानते हुए कहा कि यहां कम से कम सौ बिस्तरों वाला बच्चों का अलग से गहन चिकित्सा कक्ष बनना चाहिए. हर्षवर्द्धन ने कहा कि उन्होंने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री को अगले साल तक युद्ध स्तर पर इसे तैयार कर लिए कहा गया है.

तेज प्रताप का नीतीश कुमार पर हमला, कहा- 'सुशासन बाबू राजनीति बाद में कर लेंगे अभी तो...'

उधर, 'चमकी' बुखार (Encephalitis) से बच्चों की हो रही मौत को लेकर राजद अध्यक्ष लालू यादव (Lalu Yadav) के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर जमकर हमला बोला था. तेजप्रताप (Tej Pratap Yadav) ने ट्वीट कर बिहार के मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए लिखा कि नीतीश बाबू हम राजनीति बाद में कर लेंगे अभी इन मासूमों की जिंदगी ज्यादा जरूरी है. कुछ भी कीजिए इन बच्चों को बचा लीजिए. 

टिप्पणियां

तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने ट्वीट किया, सुशासन बाबू, माना कि ये 5-10 वर्ष के मासूम बच्चे किसी दल के वोटर नहीं हैं लेकिन क्या इन सैकड़ो मासूमों की जान आपके सुशासन की जिम्मेदारी नहीं हैं? नीतीश बाबू हम राजनीति बाद में कर लेंगे अभी इन मासूमों की जिंदगी ज्यादा जरूरी है. कुछ भी कीजिए इन बच्चों को बचा लीजिए.

VIDEO: नहीं थम रही मासूमों की मौत, अब तक 100 बच्चों ने तोड़ा दम



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement