NDTV Khabar

पीएम मोदी के इस मंत्री ने कुर्सी-टेबल तक की पूजा कर संभाला कामकाज

मोदी सरकार के ज़्यादातर मंत्रियों ने सोमवार को पदभार संभाल लिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी के इस मंत्री ने कुर्सी-टेबल तक की पूजा कर संभाला कामकाज

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कार्यभार संभाला...

खास बातें

  1. ज्यादातर नए मंत्रियों ने अपने-अपने विभागों का कामकाज संभाला
  2. सुरेश प्रभु की जगह पीयूष गोयल ने रेल मंत्री का पदभार संभाला
  3. रक्षा मंत्रालय का जिम्मा अभी निर्मला सीतारमण ने नहीं संभाला है
नई दिल्ली:

मोदी सरकार के नए मंत्री अपने-अपने महकमों का कामकाज संभाल रहे हैं. सोमवार को ज़्यादातर मंत्रियों ने पदभार संभाल लिया. सुरेश प्रभु की जगह पीयूष गोयल ने रेल मंत्री का पदभार संभाल लिया है. मजेदार बात यह रही कि खुद सुरेश प्रभु इस मौके पर उपस्थित हुए. उन्होंने पीयूष गोयल को रेल मंत्रालय संभालने पर बधाई दी. उधर, सुरेश प्रभु ने वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्री का कामकाज संभाल लिया है. धर्मेन्‍द्र प्रधान ने पेट्रोलियम एवं प्रकृति गैस मंत्री एवं कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री का कार्यभार संभाला. हालांकि बहुचर्चित बदलाव रक्षा मंत्रालय का जिम्मा अभी निर्मला सीतारमण ने नहीं संभाला है.
 
मोदी सरकार के अन्य मंत्रियों की तुलना में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्य मंत्री बनाए गए अश्विनी कुमार चौबे ने बिल्कुल अलग अंदाज में कार्यभार संभाला. निर्माण भवन में स्वास्थ्य मंत्रालय में अपने नए दफ्तर में पहुंचते ही सबसे पहले भगवान की ही नहीं, कुर्सी-टेबल दफ़्तर सबकी पूजा की.

यह भी पढ़ें: रक्षा मंत्री के रूप में निर्मला सीतारमण के सामने ये हैं अहम चुनौतियां


उधर, मोदी मंत्रिमंडल के पूरे कामकाज पर सहयोगी शिवसेना ने तीखा हमला किया. मुख्यपत्र सामना में लिखा गया, "मोदी सरकार ने तीन साल पूरे कर लिए लेकिन मंत्रिमंडल में प्रयोग अब भी जारी हैं. लोग अब भी अच्छे दिनों के चमत्कार की राह देख रहे हैं. बिहार, असम, ओडिशा, उत्तर प्रदेश, जैसे राज्यों में बाढ़ की तबाही है और सरकारी अस्पतालों में मौतें ख़त्म नहीं हो रहीं. किस मंत्रालय ने कौन सी समस्या हल कर दी?"

यह भी पढ़ें: क्या नए रेल मंत्री रोक पाएंगे 'मौत का सफर'? सामने हैं वहीं चुनौतियां जिनसे 'प्रभु' भी न निपट पाए

टिप्पणियां

ये उम्मीद जेडीयू को भी थी कि उसे फेरबदल में जगह मिलेगी. रविवार को जेडीयू महासचिव ने ये उम्मीद जता भी दी थी जब उन्होंने NDTV से कहा था, "नीतिश सरकार में बीजेपी की सम्मानजनक हिस्सेदारी के बाद बिहार के लोगों को उम्मीद थी कि जेडी-यू के प्रतिनिधि भी मोदी सरकार में शामिल होंगे, लेकिन ये विस्तार सिर्फ बीजेपी तक ही सीमित रहा".

VIDEO : मंत्रिमंडल में जगह न मिलने से मायूस सहयोगी दल

इस फेरबदल की वजह से कम से कम अपने सबसे पुराने और सबसे नए दो सहयोगियों के साथ बीजेपी के रिश्ते बदल गए हैं- ये दिख रहा है. अब प्रधानमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष की चुनौती इन दलों को समझाबुझा कर अपने साथ बनाए रखने की होगी.



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement